Thursday, December 8, 2022
HomeChambaNational Child Health Program स्वास्थ्य विभाग स्कूलों में करेगा बच्चों के स्वास्थ्य...

National Child Health Program स्वास्थ्य विभाग स्कूलों में करेगा बच्चों के स्वास्थ्य की जांच

- Advertisement -

National Child Health Program स्वास्थ्य विभाग स्कूलों में करेगा बच्चों के स्वास्थ्य की जांच

  • राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत गठित टीमों को जल्द किया जाए कार्यशील
  • जिले के 477 विद्यालयों में 846 अध्यापकों को प्रशिक्षण उपलब्ध
  • विद्यार्थियों में स्वास्थ्य एवं स्वच्छता संबंधी जागरूकता लाना है उद्देश्य

इंडिया न्यूज, चम्बा :

National Child Health Program : स्कूल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत उपायुक्त दूनी चंद राणा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक बुधवार को उपायुक्त कार्यालय के सभागार में आयोजित की गई।

उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत कार्यक्रम के तहत स्कूल स्वास्थ्य कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसके तहत जिले के सभी सरकारी और सरकार के माध्यम से वित्त पोषित विद्यालयों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य स्कूल जाने वाले बच्चों में स्वास्थ्य एवं स्वच्छता संबंधी जागरूकता पैदा करके विद्यालय स्तर पर संचालित स्वास्थ्य गतिविधियों को प्रोत्साहित करना है।

विद्यालय स्तर पर कार्यक्रम के प्रभावी संचालन को लेकर शिक्षकों (1 महिला व 1 पुरुष) को हेल्थ एंड वेलनेस एंबेस्डर बनाया गया है।

इसी तरह स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता के लिए प्रत्येक कक्षा के 2 छात्रों को हेल्थ एंड वैलनेस मैसेंजर के रूप में नामांकित किया गया है।

बैठक में कार्यक्रम के तहत अब तक किए गए विभिन्न कार्यों की समीक्षा के दौरान उपायुक्त ने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत गठित टीमों को जल्द कार्यशील करने के निर्देश देते हुए सभी संबंधित विभागों से कार्यक्रम के तहत की जाने वाली विभिन्न स्वास्थ्य गतिविधियों में निगरानी तंत्र को और सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए।

उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि विद्यालय स्तर से सीधे सूचना संप्रेषण की व्यवस्था को सुनिश्चित बनाया जाए। विद्यालय स्तर पर कार्यक्रम के तहत गतिविधियों के प्रभावी आयोजन की आवश्यकता पर जोर देते हुए दूनी चंद राणा ने अन्य गतिविधियों के साथ मिश्रित कर स्वास्थ्य संबंधी गतिविधियों को प्राथमिकता के आधार पर सुनिश्चित बनाने को भी कहा।

विभागीय प्रतिनिधि ने बैठक में अगवत किया कि जिले में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा 11 टीमें गठित की जा चुकी हैं।

इसके तहत चिकित्सा अधिकारी, स्वास्थ्य कार्यकर्ता और फार्मासिस्ट को शामिल किया गया है। सर्वशिक्षा अभियान के जिला प्रभारी ने बताया कि जिले के विभिन्न 477 माध्यमिक विद्यालय, उच्च विद्यालय और वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में से चयनित 954 अध्यापकों में से 846 अध्यापकों को स्कूल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षण उपलब्ध करवाया जा चुका है।

जनजातीय उपमंडल पांगी में जल्द प्रशिक्षण सत्र आयोजित करने के लिए विभागीय प्रक्रिया पूरी की जा रही है। इस दौरान सुरक्षित मातृत्व आश्वासन (सुमन) की समीक्षा व फैमिली प्लानिंग फेलियर के राहत मामलों पर चर्चा के साथ आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए गए।

इस बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. कपिल शर्मा, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. जालम भारद्वाज, उपनिदेशक उच्च शिक्षा प्यार सिंह चाढक, पंडित जवाहर लाल नेहरू राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय के बाल रोग विशेषज्ञ डाक्टर विशाल महाजन, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास बालकृष्ण शर्मा, उप चिकित्सा अधीक्षक डा. हर्ष, डा. एकता, डा. सुरेश, प्रधानाचार्य डाइट राजेश कुमार और संबंधित अधिकारी मौजूद रहे। National Child Health Program

Read More : Budget Discussion कांग्रेस ने बजट में विकास के लिए पैसा बताया कम

Read More : HP CM Laid the Foundation Stone ढली में 49 करोड़ की लागत से बनेगी डबल लेन सुरंग

Read More : Russia-Ukraine Crisis यूक्रेन से सुरक्षित लौटे हिमाचल के 441 विद्यार्थी

Connect With Us : Twitter | Facebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular