Sunday, November 27, 2022
HomeDharmshalaभाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा ने शाहपुर में पंच परमेश्वर सम्मेलन को...

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा ने शाहपुर में पंच परमेश्वर सम्मेलन को किया संबोधित

- Advertisement -

इंडिया न्यूज, धर्मशाला, (BJP National President Nadda) : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने शाहपुर में पंच परमेश्वर सम्मेलन को संबोधित किया। उक्त सम्मेलन को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा मुझे इस बैठक में आने का मौका मिला है, इसलिए मैं आप लोगों का धन्यवाद करता हूं।

हमारे ये कार्यकर्ता ही नही हैं बल्कि चुने हुए प्रतिनिधि हैं। उन्होंने आगे कहा कि जितना बाकी दल इतनी बड़ी जनसभा नहीं कर पाते है उतनी बड़ी हम बैठक करते है। इसका कारण हमारे कार्यकर्ता हैं। ये सब साधना का परिणाम है जो पार्टी कार्यकर्ताओं ने कई साल तक की है। आज जो आप लोग यहां कुर्सी पर बैठे हैं उसके लिए आपने भी साधना की है।

भाजपा भगवान रघुनाथ जी का है रथ

भाजपा भगवान रघुनाथ जी का रथ है, ऐसे ही चलता रहेगा। इस रथ को खींचने में आपने कितना सहयोग दिया यह सोचें। परिणाम के बाद सभी लोग बताएं कि अपने यहां उन्होंने पार्टी को कितने वोट दिलाए। यह पहला काम किया। मैं एक आॅडिटर हूं सबके काम का हिसाब होगा। हर प्रतिनिधि का अपना एक हलका है। वहां आप खुद सब कुछ हैं।

2463 पंचायतों में हैं भाजपा समर्थित प्रधान

हिमाचल में 3215 पंचायतें हैं, जिसमें 2463 में भाजपा के प्रधान हैं। ऐसे ही निकायों में हमारी स्थिति है। ये ऐसे ही नहीं हुआ, ये हमारी शक्ति है। इसी पूंजी को हमें आगे बढ़ाना है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सेंधमारी को लेकर चौकन्ना रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि मेरी अपील है कि चुनाव में अपने इलाके में सेंध न लगे। हर हलके का रिपोर्ट कार्ड होता है। राजनीति में चौकन्ने होना पड़ता है। कुर्सी हमारा लक्ष्य नहीं लक्ष्य को साधने का माध्यम है।

अब किसी को कही जाने की जरूरत नहीं

उन्होंने आगे कहा कि अब हमें कही जाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि 1998 के चुनाव में वीरभद्र सिंह ने 40 लाख की घोषणा करते हुए टांडा मेडिकल कॉलेज की घोषणा की थी। तब मैं स्वास्थ्य मंत्री बना, तो मेडिकल कौंसिल ने इनकार कर दिया। उस समय मेरी और धूमल जी की चर्चा हुई। उस समय हमारे प्रभारी नरेंद्र मोदी थे तो उन्होंने चर्चा के लिए बुलाया।

उस समय मेडिकल काउंसिल ने कहा कि आपको अवसर देते हैं 2 माह में व्यवस्था बनाओ। तब मेहनत करके काउंसिल ने हमें अस्थायी स्वीकृति दी। ये सब हमने इसलिए किया क्योंकि हमने सत्ता सुख के लिए नहीं बल्कि कुछ करने की ललक रही। जब मैं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री था तो टांडा को सुपर स्पेशिलिटी बनाया। यह चंबा मेडिकल कॉलेज ऐसे ही नहीं मिल गया। सिरमौर में आइआइएम दिया। अब कोई व्यक्ति चंडीगढ़ या जालंधर नही जाएगा बल्कि बिलासपुर जाएगा।

हम अपने लिए नहीं मकसद से आए है

मेडिकल डिवाइस पार्क, बल्क ड्रग पार्क भारत और हिमाचल को पूरी दुनिया में स्थापित कर देगा। राजनीति में भटकाने वाले बहुत मिल जाएंगे, तब बोलना हमें अपने लिए नहीं बल्कि पार्टी के लिए आना होता है। आप कभी भटक मत जाना। हम अपने लिए नहीं मकसद से आए हैं और उसे पूरा करना है। आप लोगों का जमीनी स्तर पर संपर्क है तो संपर्क बनाओ। अपने मोहल्ले और गांव में प्रबुद्ध लोगों से जुड़ो। स्वयं सहायता समूह और संस्थाओं से संपर्क करो और अपने साथ जोड़ो।

नड्डा बोले, ये आपका सिलेबस

केंद्र और सरकार की योजना में फर्क, हिम केयर और आयुष्मान भारत में क्या फर्क है। कितने लाभार्थी हैं। उज्ज्वला योजना गृहणी योजना के कितने लाभार्थी हैं। ये सब आपका सिलेबस है। राजनीति में एजेंडा हमने सेट करना है। चाहे शादी में जाओ, चाहे मातम में 10 मिनट बाद राजनीति की ही चर्चा होती है। जीत को लक्ष्य न बनाकर जनसेवक बनने का लक्ष्य बनाओ। अन्य बातों को छोड़कर अपने अपने क्षेत्र के आंकड़ों पर ध्यान दें ताकि आम आदमी का भला हो सकें।

ALSO READ : हाईकोर्ट ने अधीनस्थ अदालतों में लंबित मामलों के निपटाने के लिए बनाए नियम

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular