Tuesday, December 6, 2022
HomeDharmshalaCement And Bars Price: धर्मशाला में अब सीमेंट के बाद सरिये का...

Cement And Bars Price: धर्मशाला में अब सीमेंट के बाद सरिये का दाम भी बढे , जाने;

- Advertisement -

इंडिया न्यूज़, धर्मशाला:

Cement And Bars Price: प्रदेश में अब घर बनाना और भी महंगा हो गया है। एक सप्ताह के भीतर सरिया के दाम 500 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ गए हैं। पिछले सप्ताह सरिया का भाव 6500 रुपये प्रति क्विंटल था, जो अब 7000 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है। पिछले सोमवार को एक ही दिन में सरिया के दाम में 200 रुपये का उछाल आया है।

बताया जाता है कि दो महीने के भीतर सरिया एक हजार रुपये महंगा हो गया है। सीमेंट के दामों में भी करीब एक महीना पहले बढ़ोतरी हुई है। पहले सीमेंट के दाम 425 रुपये प्रति बैग है, जो अब 435 से 475 रुपए प्रति बैग पहुंच गया है। एक हजार ईंट 10 हजार रुपये में मिल रही हैं। रेत की गाड़ी 18 हजार और बजरी की गाड़ी करीब 17 हजार रुपये में मिल रही है। ऐसे में घर बना रहे लोगों का बजट बिगड़ गया है।(Cement And Bars Price)

गौरबतलव है कि कई व्यापारी कीमतें बढ़ने की वजह यूक्रेन-रूस के युद्ध को बता रहे हैं। दलील दी जा रही है कि बाहर से आयात होने वाले कच्चे माल के दाम बढ़ने से सरिया महंगा हुआ है। उद्योग वाले से जब भाव बढने का कारण पूछते है तो कहते हैं कि माल चाहिए तो बढ़े दामों पर ही मिलेगा। दाम बढ़ने का कारण पूछा जाता है तो कोई कोयले के दाम में बढ़ोतरी का तर्क देता है तो कोई युद्ध की वजह से कच्चे माल की कीमत बढ़ने की बात कहता है। व्यापारियों का कहना है कि उद्योगों पर नियंत्रण होना चाहिए, ताकि वो सही तरीके से भाव बढाऐं न कि अपनी मर्जी से।

Cement And Bars Price

सरिया प्रति क्विंटल 19 फरवरी       8 मार्च

12 एमएम                 6750             8100
16 एमएम                 6850             8200
10 एमएम                 6950             8300
8 एमएम                   7050             8400

सीमेंट प्रति बैग       पहले      अब   (Cement And Bars Price)
पीसीसी                425      435
गोल्ड                  455      475

सीमेंट की कमी से पंचायतो के विकास कार्य भी रुके

प्रदेश की पंचायतों में मनरेगा के तहत किए जाने वाले विकास कार्यों के लिए पिछले आठ-नौ माह से सीमेंट नहीं मिल रहा है। इससे विकास कार्य ठप्प हो गए हैं। प्रदेश की पंचायतों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत कई विकास कार्य शुरू किए गए हैं, लेकिन सीमेंट नहीं पहुंचने से काम लटक गए हैं। इससे मनरेगा मजदूरों को रोजगार भी नहीं मिल रहा है। हालात यह हैं कि सीमेंट न होने से मनरेगा के तहत दिहाड़ी लगाकर गुजर-बसर करने वाले मजदूर बेकार बैठे हैं। संबंधित पंचायत प्रधानों से कार्य शुरू करने की लगातार मांग कर रहे हैं।

Cement And Bars Price

Read More:  Kandahar Plain Hijack Case Update: कंधार में हुए विमान अपहरण के आतंकी को आज कराची में मारी गयी गोली

Read More : Women Studies Center: केंद्रीय विवि में बनाया जायेगा महिला अध्ययन केंद्र

Connect With Us : Twitter Facebook

Sachin
Sachin
Learner , Hardworking , Aquarius hu toh samajh lo kya kya hounga .....
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular