Saturday, October 1, 2022
HomeDharmshalaघर की खुशहाली के लिए महिलाओं का सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनना जरूरी...

घर की खुशहाली के लिए महिलाओं का सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनना जरूरी – राकेश पठानिया

वन, युवा सेवाएं एवम खेल मंत्री राकेश पठानिया हस्तशिल्प कारीगरों के लिए आयोजित टूल-किट्स वितरण समारोह के दौरान लाभार्थियों को टूल किट बांटते हुए।

घर की खुशहाली के लिए महिलाओं का सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनना जरूरी – राकेश पठानिया

  • महिलाओं के सामाजिक व आर्थिक उत्थान के लिए सरकार वचनबद्ध।
  • वन मंत्री ने मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के 64 लाभार्थियों को बांटी टूल-किट्स।
  • मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत जिला के 862 लाभार्थियों को 60 करोड़ से अधिक का ऋण स्वीकृत।

 

इंडिया न्यूज, नूरपुर (Nurpur-Kangra, Himachal Pradesh)।

परिवार तथा समाज को आगे ले जाने में महिलाओं का विशेष योगदान रहता है, इसलिए परिवार की खुशहाली के लिए महिलाओं का सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनना बेहद जरूरी है। यह विचार वन, युवा सेवाएं एवम खेल मंत्री राकेश पठानिया ने वीरवार को स्थानीय राणा फार्म में जिला उद्योग केंद्र के सौजन्य से हस्तशिल्प कारीगरों के लिए आयोजित टूल-किट्स वितरण समारोह एवंम् मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के अंतर्गत एक दिवसीय कार्यशाला में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करते हुए व्यक्त किये।

वन, युवा सेवाएं एवम खेल मंत्री राकेश पठानिया हस्तशिल्प कारीगरों के लिए आयोजित टूल-किट्स वितरण समारोह के दौरान लाभार्थियों को टूल किट बांटने के उपरांत।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं के सामाजिक उत्थान के साथ-साथ उन्हें आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनाने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने बताया कि जरूरतमंद महिलाओं के कल्याण के लिये कई योजनायें चलाई जा रही हैं। इसके अतिरिक्त प्रदेश की महिलाओं को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाने के लिये राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में जोड़ कर स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत जिला के 862 लाभार्थियों को 60 करोड़ से अधिक ऋण स्वीकृत।

उन्होने बताया कि उद्योग विभाग द्वारा प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत पिछले चार वर्षों में जिला के 862 लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए 60 करोड़ रुपए से अधिक के ऋण स्वीकृत किये है तथा इसके तहत उन्हें लगभग 25 करोड़ रुपए की सब्सिडी प्रदान की है। उन्होंने बताया कि नूरपुर विकास खंड में इस अवधि में 59 जरूरमंद लोगों को 11 करोड़ 17 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है तथा 1 करोड़ 90 लाख रुपए का अनुदान प्रदान किया गया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में वन विभाग द्वारा संचालित की जा रही जायका, आईडीपी और केएफडब्ल्यू परियोजनाओं में भी राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की तरह महिला सशक्तिकरण की दिशा में कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस परियोजना के माध्यम से प्रदेश में स्वयं सहायता समूहों से जुड़े लोगों के लिये स्वरोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। उन्होंने कहा कि जायका परियोजना में जिला कांगड़ा को भी शामिल किया गया है और इस पर 150 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे।

महिलाओं से महिला समूहों के गठन की अपील

उन्होंने उपस्थित महिलाओं से महिला समूहों के गठन की अपील की। उन्होंने कहा कि ऐसे समूहों को जायका के अतिरिक्त अन्य योजनाओं से जोड़ कर उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनाने के लिए विशेष प्रयास किये जा सकें। उन्होंने महिला समूहों को डेयरी फार्मिंग तथा स्वरोजगार की अन्य योजनाओं से जुड़ने की अपील की।उन्होंने कहा कि निर्मित उत्पादों को अच्छे दाम पर बेचने के लिए मार्केटिंग उपलब्ध करवाने के विशेष प्रयास किये जाएंगे।
मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के 64 लाभार्थियों को बांटी टूल-किट्स।

वन मंत्री ने इस मौके पर मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत विकास खंड की 64 लाभार्थियों को सिलाई मशीनें, कढ़ाई किट तथा एक बैम्बू किट भी वितरित की।

इससे पहले, जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक राजेश कुमार ने कार्यशाला में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने तथा मुख्यमंत्री स्वावलंवन की विभिन्न योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने लोगों से इस योजना का लाभ उठाने की अपील की।

वन मंत्री ने विधानसभा क्षेत्र की थोड़ा पंचायत के गलोड़ तथा थोड़ा वार्डों में विभागीय अधिकारियों के साथ लोगों की समस्याओं को सुना।

वन मंत्री ने विधानसभा क्षेत्र की थोड़ा पंचायत के गलोड़ तथा थोड़ा वार्डों में विभागीय अधिकारियों के साथ लोगों की समस्याओं को सुना। उन्होंने स्थानीय लोगों द्वारा रखी गई मांगों को शीघ्र पूरा करने का भरोसा दिया।

इस मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र शर्मा, जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक राजेश कुमार, प्रबंधक संदीप शर्मा, बीडीओ श्याम सिंह, बीडीसी अध्यक्ष कुसुम देवी, उपाध्यक्ष रक्षपाल पठानिया, जिला परिषद सदस्य अर्पणा देवी, जलशक्ति विभाग के अधिशासी अभियंता अमित डोगरा, लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता जेएस राणा, बिजली विभाग के एसडीओ शंकर दयाल शर्मा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रविंद्र चैधरी, जिला भाजपा महामंत्री राजेश काका, जिला भाजपा महिला मोर्चा महामंत्री बबली देवी, मंडल महामंत्री कविता शर्मा सहित अन्य विभागों के अधिकारी व लाभार्थी उपस्थित रहे। घर की खुशहाली के लिए महिलाओं का सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनना जरूरी |

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular