Friday, September 30, 2022
HomeDharmshalaसीएसआईआर-आईएचबीटी द्वारा स्कूलों में चलाया गया पौधरोपण अभियान

सीएसआईआर-आईएचबीटी द्वारा स्कूलों में चलाया गया पौधरोपण अभियान

सीएसआईआर-आईएचबीटी द्वारा स्कूलों में चलाया गया पौधरोपण अभियान

  • मिशन के अंतर्गत पाँच विभिन्न राज्यों में 200 विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में उद्यान विकसित किए जा रहे
  • सरकारी विद्यालयों में उद्यान विकसित करवाने हेतु विभिन्न प्रकार के लगभग 650 पौधे लगवाए गए

इंडिया न्यूज, पालमपुर (Palampur-Himachal Pradesh)

 

सी.एस.आई.आर.-आई.एच.बी.टी. (CSIR-IHBT) पालमपुर (Palampur), संस्थान द्वारा फ्लॉरिकल्चर मिशन (Floriculture Mission) के उपशीर्ष अर्बन फ्लॉरिकल्चर (urban Floriculture) के अंतर्गत पिछले सप्ताह पालमपुर ब्लॉक (Palampur Block), के 6 सरकारी विद्यालयों (government school) में उद्यान विकसित (development of garden) करवाने हेतु विभिन्न प्रकार के लगभग 650 पौधे लगवाए गए, जिनमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, लाहला व डाढ़य शहीद राकेश कुमार राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, चचियाँय राजकीय प्राथमिक विद्यालय, डाढ़य राजकीय माध्यमिक पाठशाला, चचियाँय व राजकीय उच्च विद्यालय, गोपालपुर शामिल हैं। इन स्कूलों में लगाए बागवानी पौधों में एरोकेरिया (erocaria), गुढ़हल (hiccups), बॉक्सवुड (boxwood), हाईड्रन्जिया (Hydrangea), मधुमालती (Madhumalati), थूजा (Thuja), सायप्रस (cyprus) इत्यादि के पौधे विद्यालयों में विद्यार्थियों (students) व शिक्षकों (teachers) के सहयोग से आदि हैं।

 

मिशन के अंतर्गत पाँच विभिन्न राज्यों में 200 विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में उद्यान विकसित किए जा रहे

मिशन स्टाफ (mission staff) द्वारा विद्यार्थियों (students) को पौधों (plants) एवं उद्यान के महत्व (importance of gardent) एवं स्थल सौंदर्यीकरण (beautification of place) से भी अवगत करवाया गया। जिससे वह अपने जीवन में एक स्वरोजगार (self employment) का माध्यम बना सकते हैं। सभी विद्यालयों के लगभग 900 विद्यार्थियों, शिक्षकों और अन्य स्टाफ ने उद्यान विकसित करने में भागीदारी दी। सभी विद्यालयों के प्रधानाचार्यों एवं शिक्षकों ने इस उत्कृष्ट कार्य के लिए संस्थान के निदेशक एवं मिशन स्टाफ का आभार व्यक्त किया। इस मिशन के अंतर्गत पाँच विभिन्न राज्यों में 200 विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में उद्यान विकसित किए जा रहे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular