Saturday, October 1, 2022
HomeDharmshalaपत्रकारों से सांझा की भारतीय खाद्य निगम के खाद्य भंडार भवारना की...

पत्रकारों से सांझा की भारतीय खाद्य निगम के खाद्य भंडार भवारना की कार्यप्रणाली।

पत्रकारों से सांझा की भारतीय खाद्य निगम के खाद्य भंडार भवारना की कार्यप्रणाली।

इंडिया न्यूज, पालमपुर (Palampur-Himachal Pradesh)

भारत सरकार के उपभोगता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के अंतर्गत भारतीय खाद्य निगम के खाद्यान्न भंडारण केंद्र देश भर मे फैले है, जो भारत सरकार के विभिन्न योजनाओ के द्वारा खाद्य सुरक्षा अधिनियम, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना ओर स्कूलों मे मिड डे मील व आँगन वाड़ी केन्द्रो मे खाद्यान्न की आपूर्ति सुनिश्चित करती है ताकि भारत का कोई भी नागरिक अन्न के अधिकार से वंचित न रहे। इसी कड़ी मे भारत सरकार द्वारा फोरटिफायड चावल का वितरण भी आरम्भ कर दिया गया है। फोरटिफायड चावल पोषणयुक्त चावल है इसमे कई तरह के विटामिन, आइरन और फॉलिक एसिड हैं। ये जानकारी भारतीय खाद्य निगम के खाद्य भंडार भवारना के मैनेजर जिगमे दोरजी ने पत्रकारों को इस खाद्य भंडार के दौरे के दौरान दी।

भारतीय खाद्य निगम के प्रबन्धक ने बताया कि यह गोदाम अभी नया बनकर तैयार हुआ है और अभी हाल ही मे इसका उदघाटन हुआ है। गोदाम की क्षमता 2240 मीट्रिक टन है जो कि लगभग 22500 किवंटल की क्षमता का है और इस गोदाम में गेहूं, चावल सामान्य व फोरटिफायड चावल का भंडारण और वितरण किया जा सकता है।

इस केंद्र से होती है कांगड़ा व मंड़ी जिला के कई क्षेत्रों को खाद्यनाओं की आपूर्ती

उन्होने बताया कि इस खाद्य भंडार से कांगड़ा जिले के दुर्गम क्षेत्र बड़ा बंगाल, पपरोला, पंचरूखी, मरांडा और जिला मंडी के लड्भडोल और जोगिंदर नगर क्षेत्र की भिन्न-भिन्न योजनाओ के अंर्तगर्त चावल, गेहंू व फोरटिफायड चावल पूर्ती की जाती है। भारतीय खाद्य निगम भवारना, पालमपुर से जुलाई महीने मंे 2374 मेट्रिक टन गेहूं व 1025 मेट्रिक टन चावल राज्य सरकार, हिमाचल प्रदेश राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के द्वारा उठाया गया।

खाद्य भंडार, भवारना, पालमपुर को खाद्यान्नों की आवक पंजाब क्षेत्र से होती है

उन्होने बताया कि खाद्य भंडार, भवारना, पालमपुर को खाद्यान्नों की आवक पंजाब क्षेत्र से होती है, जिसे उतारने से पहले भारतीय खाद्य निगम के परिसर मे स्थित धर्म कांटे मे तौला जाता है व गोदाम मे कार्यरत कर्मी द्वारा उतारे जाने से पहले खाद्यान्न का तकनीकी विश्लेषण व गुण परीक्षण किया जाता है।

खाद्य भंडार भवारना, पालमपुर डिपो ऑनलाइन डिपो है

उन्होने बताया कि खाद्य भंडार भवारना, पालमपुर डिपो ऑनलाइन डिपो है व रियल टाइम बेसिस पर कार्य करता है। गोदाम मे भंडारण किए जाने वाले खाद्यान्न की बोरियों को क्रमबद्ध तरीके से स्टेक पर लगाया जाता है जिस से स्टेक मे लगाई गयी बोरियों को आसानी से कोई भी गिन सकता है इसके अतिरिक्त भंडारण किए गए खाद्यान्न की रसायनिक उपचार निश्चित अवधि या आवश्यकता पड़ने पर की जाती है ताकि खाद्यान्न को कीट मुक्त व स्वस्थ रखा जाये। इसी क्रम मे गोदाम की निरंतर सफाई की जाती है।

भारतीय खाद्य निगम भवारना, पालमपुर के प्रबंधन द्वारा गोदाम की कार्यप्रणाली बेमेण्ट, स्टेकिंग, परीक्षण व रिकॉर्ड कीपिंग की भी जानकारी उपलब्ध कराई गयी। सुचारु रूप से गोदाम का संचालन हो इसके लिए आवशयक मूलभूत सुविधाए उपलब्ध है। खाद्यान्न के हेंडलिंग के लिए श्रमिकों की व्यवस्था है। गोदाम की सुरक्षा व्यवस्था के लिए 24ग7 सुरक्षा प्रहरी भी उपलब्ध है।

इस दौरे के दौरान खाद्य भंडार भवारना के सुशील पाल, डिपू इंचार्ज, नरेंद्र भाटिया टैक्निकल सहायक व देवाशीश नायक एजी 3 (डी) भी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular