Monday, October 3, 2022
HomeHamirpurसम्मान निधि पाने वाले सभी किसानों के बनेंगे केसीसी

सम्मान निधि पाने वाले सभी किसानों के बनेंगे केसीसी

सम्मान निधि पाने वाले सभी किसानों के बनेंगे केसीसी

  • पंचायत स्तर पर ‘किसान भागीदारी-प्राथमिकता हमारी’ अभियान 24 अप्रैल से
  • किसान क्रेडिट कार्ड पर आसानी से मिलता है बहुत ही सस्ता ऋण

इंडिया न्यूज, हमीरपुर।

किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan credit card) के माध्यम से आसानी से सस्ता ऋण उपलब्ध करवाने के लिए केंद्र सरकार राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू कर रही है। 24 अप्रैल से 1 मई तक ‘किसान भागीदारी-प्राथमिकता हमारी’ नाम से चलाए जा रहे इस विशेष अभियान के तहत जिला हमीरपुर में भी किसान क्रेडिट बनाने की मुहिम चलाई जाएगी।

उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने शुक्रवार को जिला अग्रणी बैंक, अन्य बैंकों, कृषि विभाग, उद्यान विभाग, पशुपालन, मत्स्य पालन, राजस्व, पंचायतीराज और अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करके इस अभियान की रूप-रेखा तय की।

उपायुक्त ने बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (Prime Minister Kisan Samman Nidhi) प्राप्त करने वाले सभी किसानों को इस अभियान के दौरान कवर किया जाएगा तथा किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए उनका डाटा 10 मई तक पोर्टल पर अपलोड कर दिया जाएगा।

केसीसी (kcc) के तहत 1 लाख 60 हजार रुपए तक के ऋणों को तुरंत मंजूरी भी दे दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस समय जिले के लगभग 58 हजार किसानों को किसान सम्मान निधि दी जा रही है।

इनमें से लगभग 35 हजार किसानों को पहले ही केसीसी दिए जा चुके हैं। सम्मान निधि के अन्य पात्र किसानों को भी केसीसी प्रदान करने के लिए सभी पंचायत सचिवों को पात्र लाभार्थियों की सूची उपलब्ध करवाई जा रही है और 24 अप्रैल को सभी पंचायतों में होने वाली ग्राम सभा की बैठकों के दौरान इन छूटे किसानों के फार्म भरे जाएंगे।

उपायुक्त ने बताया कि ग्राम सभा के बाद सचिव इन आवेदनों को संबंधित बैंक शाखा में प्रस्तुत करेंगे ताकि 10 मई से पहले इनके नाम पीएम किसान पोर्टल पर दर्ज किए जा सकें।

24 अप्रैल को ग्राम सभा मौजूद रहेंगे सभी अधिकारी

उपायुक्त ने कहा कि इस अभियान के दौरान सभी पात्र किसानों को कवर करने के लिए 24 अप्रैल को पंचायत सचिव के अलावा पटवारी, कानूनगो, कृषि, मत्स्य पालन और पशुपालन विभाग के अधिकारी भी ग्राम सभा में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें।

उपायुक्त ने राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे लाभार्थियों की भू-अभिलेख प्रतियां (land record copies) तुरंत उपलब्ध करवाएं।

उन्होंने बताया कि पारंपरिक कृषि और बागवानी कार्यों के अलावा पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन जैसे कार्यों के लिए भी केसीसी सुविधा का लाभ उठाया जा सकता है इसलिए इन विभागों के अधिकारी भी पात्र किसानों को केसीसी के लिए प्रेरित करें।

उपायुक्त ने कहा कि ‘किसान भागीदारी-प्राथमिकता हमारी’ अभियान के दौरान किसानों को केसीसी के साथ-साथ बैंकों की सामाजिक सुरक्षा योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और अटल पेंशन योजना से भी जोड़ा जाएगा। सम्मान निधि पाने वाले सभी किसानों के बनेंगे केसीसी

Read More : धर्मशाला में पीएम आवास योजना को लेकर कार्यशाला का शुभारंभ

Connect With Us : Twitter | Facebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular