Monday, November 28, 2022
Homeहिमाचल प्रदेशAvalanche in Arunachal Pradesh पैतृक गांव पहुंचेगी शहीद अंकेश भारद्वाज की पार्थिव...

Avalanche in Arunachal Pradesh पैतृक गांव पहुंचेगी शहीद अंकेश भारद्वाज की पार्थिव देह

- Advertisement -

Avalanche in Arunachal Pradesh पैतृक गांव पहुंचेगी शहीद अंकेश भारद्वाज की पार्थिव देह

  • अरुणाचल प्रदेश हिमस्खलन में शहीद हुए हिमाचल प्रदेश के 2 सैनिक

इंडिया न्यूज, बिलासपुर :

Avalanche in Arunachal Pradesh : अरुणाचल प्रदेश में हुए हिमस्खलन में हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले के गांव सेऊ के शहीद हुए 19 जैक राइफलमैन अंकेश भारद्वाज (22) की पार्थिव देह गुरुवार को घुमारवीं पहुंचेगी।

 

यहां सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। बुधवार 11 बजे तक माता-पिता और परिजन अंकेश की सलामती की दुआएं करते रहे।

इसके बाद पिता पांचा राम को सेना की तरफ से फोन पर इसकी पुष्टि की गई तो उनकी सारी उम्मीदें टूट गर्इं। जैसे ही यह समाचार मिला, पूरा माहौल गमगीन हो गया।

बेटे की शहादत की खबर सुनकर पिता पांचा राम भीतर से एकदम टूट गए और माता कश्मीरी देवी पत्थर बन गई। गत 6 जनवरी को अंकेश की बर्फीले तूफान में लापता होने की खबर मिलने के बाद से ही क्षेत्र के लोग उनके घर पर माता-पिता को सहारा देने पहुंच रहे थे।

 

 

मंगलवार रात को शहादत की खबर मिलने के बाद से लोग अंकेश के घर पहुंचे और उनके माता-पिता को ढांढस बंधाया। बुधवार सुबह तक अंकेश के पिता इस सच को मानने के लिए तैयार नहीं थे कि उनका बेटा अब इस दुनिया में नहीं रहा। वे कह रहे थे कि उनका बेटा कोमा में है।

अंकेश की शहादत की खबर मिलते ही समूचे क्षेत्र के लोग शहीद के घर पहुंचे। शहीद सैनिक की 92 वर्षीय दादी को सुनाई नहीं देता है। दोपहर तक उन्हें अंकेश की शहादत की जानकारी नहीं दी गई थी लेकिन उसके बाद जब उन्हें बताया गया तो उनके आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे।

अपने बड़े भाई को अपना आदर्श मानने वाला छोटा भाई आकाश अब भी विश्वास नहीं कर पा रहा कि उसका भाई भारत माता की सेवा के लिए जान न्योछावर कर गया।

बेटे की शहादत की खबर मिलने के बाद से ही अंकेश की मां कश्मीरी देवी बेटे की तस्वीर को हाथ में लेकर कभी उसे चूमती तो कभी सीने से लगाती। वह लगातार बेटे की तस्वीर पर नजरें बनाकर बैठी रहीं।

 

आंसुओं के सैलाब में बेटे से बिछुड़ने का दुख बयान नहीं किया जा रहा। गांव की महिलाएं शहीद की मां को ढांढस बंधाती रहीं लेकिन मां की जुबां पर अपने लाल के किस्सों-कहानियों के सिवाय कुछ और नहीं था।

एसडीएम घुमारवीं राजीव ठाकुर के अनुसार इस हादसे में प्रदेश के कांगड़ा जिले के उपमंडल बैजनाथ के अंतर्गत गांव महेशगढ़ का सैनिक 26 वर्षीय राकेश कपूर 19 जैक राइफल भी शहीद हुआ है।

इस हादसे में सेना के 7 सैनिक शहीद हुए हैं। शहीद अंकेश भारद्वाज की पार्थिव देह गुरुवार को घुमारवीं पहुंचेगी। गुरुवार को ही सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। Avalanche in Arunachal Pradesh

Read More : Agriculture Minister Call सरकारी नीतियों व योजनाओं का लाभ उठाएं युवा

Connect with us : Twitter | Facebook | Youtube

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular