Monday, November 28, 2022
Homeहिमाचल प्रदेशAwareness Camp अधिकारों के प्रति जागरूक रहें महिलाएं

Awareness Camp अधिकारों के प्रति जागरूक रहें महिलाएं

- Advertisement -

Awareness Camp अधिकारों के प्रति जागरूक रहें महिलाएं

  • कहा-महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति किया जा रहा जागरूक

इंडिया न्यूज, रिकांगपिओ :

हिमाचल प्रदेश राज्य महिला आयोग महिलाओं के हितों को सुरक्षित करने के लिए कार्यरत है। इसी उद्देश्य से आयोग द्वारा समय-समय पर महिलाओं को जागरूक करने के लिए जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जा रहा है ताकि जहां महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जा सके।

वहीं, केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ की गई विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बारे में भी उन्हें जागरूक किया जा सके। यह बात आयोग की अध्यक्ष डा. डेजी ठाकुर ने कही।

वे गुरुवार को किन्नौर जिले के निचार उपमंडल के भावानगर में राज्य महिला आयोग द्वारा आयोजित एक दिवसीय महिला जागरूकता शिविर की अध्यक्षता करते हुए बोल रही थीं।

डा. डेजी ठाकुर ने बताया कि महिलाओं की राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका है तथा एक सशक्त महिला इस कार्य को और भी बेहतर ढंग से कर सकती है।

इसके लिए जहां महिलाओं का शिक्षित होना आवश्यक है, वहीं उनके कल्याण के लिए आरंभ की गई योजनाओं के बारे में भी जानकारी होना आवश्यक है।

महिला आयोग द्वारा इन दिनों इसी उद्देश्य के दृष्टिगत महिला जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एक मंच पर विभिन्न विभागों के अधिकारियों के माध्यम से केंद्र व राज्य सरकार द्वारा आरंभ की गई विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी जा रही है ताकि पात्र महिलाएं इन योजनाओं का लाभ उठाकर आर्थिक रूप से सशक्त हो सकें।

डा. डेजी ठाकुर ने महिलाओं को राज्य महिला आयोग के कार्यों के बारे में बताते हुए कहा कि महिला आयोग का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना है।

उन्होंने महिलाओं से भी आग्रह किया कि वे जहां अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहें, वहीं अपने कर्त्तव्यों का भी सही प्रकार से पालन करें।

उन्होंने कहा कि जागरूकता के कारण ही आज महिला उत्पीड़न से संबंधित मामले थानों में दर्ज हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि महिला हिंसा में न केवल पुरुष शामिल होते हैं, बल्कि परिवार की अन्य महिलाएं भी समान रूप से शामिल रहती हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकांश मामले आयोग के सामने आते हैं जहां पति के अलावा परिवार की अन्य महिलाएं भी शामिल रहती हैं।

उत्पीड़न संबंधी शिकायत आयोग के संज्ञान में लाएं (Awareness Camp)

डा. डेजी ठाकुर ने महिलाओं से आग्रह किया कि यदि इस प्रकार की उत्पीड़न संबंधी कोई शिकायत हो तो वे आयोग के संज्ञान में लाएं।

उन्होंने कहा कि आयोग हमेशा प्रयासरत रहता है कि इस प्रकार के मामलों को आपसी सहमति से सुलझाया जा सके ताकि एक परिवार को टूटने से बचाया जा सके।

इसी कारण इस तरह के मामलों की सुनवाई बंद कमरों में की जाती है तथा इसे सार्वजनिक नहीं किया जाता। उन्होंने महिलाओं से आग्रह किया कि वे बेटा व बेटी से एक समान व्यवहार करें तथा उनमें किसी भी प्रकार का लैंगिक भेदभाव न करें।

उन्होंने कहा कि आज बेटियां हर क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा रही हैं। यही नहीं, बेटियां बेटों से आगे बढ़कर हर क्षेत्र में अपना रूतबा दिखा रही हैं।

इस अवसर पर उपमंडल अधिकारी निचार मनमोहन सिंह ने राज्य महिला आयोग द्वारा निचार में शिविर आयोजित करने के लिए आयोग की अध्यक्षा का आभार व्यक्त किया।

सहायक जिला न्यायवादी अनुज वर्मा ने जागरूकता शिविर आयोजन के उद्देश्य पर प्रकाश डाला। जागरूकता शिविर में निचार उपमंडल के तहत आने वाले महिला मंडल व आंगनबाड़ी सदस्यों सहित पंचायती राज प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले को स्मृति चिन्ह व नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इस जागरूकता शिविर में जिला परिषद अध्यक्ष निहाल चारस सहित विभिन्न विभागों के अध्यक्ष व अधिकारी उपस्थित थे। Awareness Camp

Read More : Urban Development Minister जुब्बल में पार्किंग सुविधा के लिए 2 करोड़ रुपए स्वीकृत

Connect with us : Twitter | Facebook | Youtube

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular