Saturday, February 4, 2023
Homeहिमाचल प्रदेशमुख्यमंत्री ने चम्बा से राज्य स्तरीय प्रगतिशील हिमाचल-स्थापना के 75 वर्ष कार्यक्रम...

मुख्यमंत्री ने चम्बा से राज्य स्तरीय प्रगतिशील हिमाचल-स्थापना के 75 वर्ष कार्यक्रम का शुभारम्भ किया

- Advertisement -

मुख्यमंत्री ने चम्बा से राज्य स्तरीय प्रगतिशील हिमाचल-स्थापना के 75 वर्ष कार्यक्रम का शुभारम्भ किया

  • प्रदेशवासियों के समर्पण और प्रतिबद्धता ने हिमाचल प्रदेश को देश के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक बनाया: जयराम ठाकुर
  • मुख्यमंत्री ने मिंजर महोत्सव चम्बा को अंतरराष्ट्रीय दर्जा देने की घोषणा की

इंडिया न्यूज, Chamba (Himachal Pradesh)

मुख्यमंत्री (Chief Minister) जयराम ठाकुर ने रविवार को ऐतिहासिक चम्बा (Chamba) चौगान से हिमाचल प्रदेश के गठन के 75 वर्षों के उपलक्ष्य पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम प्रगतिशील हिमाचल-स्थापना के 75 वर्ष (75 years program of state level progressive Himachal establishment) का शुभारम्भ (launched) किया।

इस ऐतिहासिक अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुखद संयोग है कि इस वर्ष देश अपनी आजादी के 75 वर्ष का उत्सव मना रहा है और साथ ही हिमाचल प्रदेश भी अपने गठन के 75 वर्ष मना रहा है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने इन 75 वर्षों में सभी क्षेत्रों में अतुलनीय विकास और प्रगति की है जिसका श्रेय प्रदेश के प्रत्येक मेहनतकश और ईमानदार व्यक्ति को जाता है।

विभिन्न बाधाओं के बावजूद हिमाचल प्रदेश को देश के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक बनाने के लिए प्रदेशवासियों ने पूर्ण समर्पण और प्रतिबद्धता के साथ काम किया।

हिमाचल प्रदेश की विकासात्मक यात्रा का उल्लेख

मुख्यमंत्री ने राज्य की विकासात्मक यात्रा का उल्लेख करते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश ने सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व विकास किया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 1948 में राज्य की प्रति व्यक्ति आय मात्र 240 रुपए थी जोकि अब बढ़कर 2,01,873 रुपए हो गई है।

राज्य का सकल घरेलू उत्पाद (GDP) जो वर्ष 1948 में 27 करोड़ रुपए था, अब बढ़कर 1,75,173 करोड़ रुपए हो गया है। उन्होंने कहा कि राज्य की साक्षरता दर आज 83 प्रतिशत हो गई है जोकि वर्ष 1948 में मात्र 4.8 प्रतिशत थी।

उन्होंने कहा कि राज्य में कृषि उत्पादन 954 मीट्रिक टन से बढ़कर 1,500 मीट्रिक टन और खाद्यान्न उत्पादन वर्ष 1948 में 1.99 लाख मीट्रिक टन था जोकि बढ़कर 15.14 लाख मीट्रिक टन हो गया है।

39,354 किलोमीटर से अधिक लम्बी सड़कें

जयराम ठाकुर ने सड़कों को पहाड़ी प्रदेश की जीवन रेखाओं की संज्ञा देते हुए कहा कि हिमाचल के गठन के समय राज्य में केवल 228 किलोमीटर सड़कें थीं, जबकि आज राज्य में 39,354 किलोमीटर से अधिक लम्बी सड़कें हैं।

उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा आरम्भ की गई प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (PMGSY) ने ग्रामीण सम्पर्क सुनिश्चित करने में एक प्रमुख भूमिका निभाई है।

उन्होंने कहा कि राज्य में पीएमजीएसवाई के तहत लगभग 20,000 किलोमीटर सड़कें निर्मित की गई हैं। उन्होंने कहा कि चम्बा जिले में गठन के समय केवल 48 किलोमीटर लम्बी सड़कें थीं, जबकि आज जिले में 2,660 किलोमीटर से अधिक लम्बी सड़कें हैं।

साढ़े 4 वर्ष का कार्यकाल पूर्ण किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने अपना साढ़े 4 वर्ष का कार्यकाल पूर्ण कर लिया है और इस अवधि में राज्य का संतुलित और चहुंमुखी विकास सुनिश्चित किया है।

उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि विपक्षी नेता बेबुनियाद मुद्दों को उठा रहे हैं और चुनाव को देखते हुए लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करने पर प्रति वर्ष 1,300 करोड़ रुपए से अधिक व्यय कर रही है, जबकि पिछली राज्य सरकार द्वारा केवल 400 करोड़ रुपए व्यय किए गए थे।

उन्होंने कहा कि हिमकेयर, सहारा योजना, गृहिणी सुविधा योजना और शगुन योजना ने जरूरतमंदों और गरीबों को बहुत आवश्यक राहत प्रदान की है।

मिंजर महोेत्सव के लिए बधाई

जयराम ठाकुर ने सदियों से ऐतिहासिक मिंजर महोेत्सव को पूरे उत्साह एवं परम्परागत ढंग से मनाने के लिए राज्य के लोगों और विशेष रूप से चम्बा जिले के सभी निवासियों को बधाई दी।

उन्होंने कहा कि मिंजर महोत्सव हिंदू-मुस्लिम एकता का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आज अपने मन की बात कार्यक्रम में राज्य में मनाए जाने वाले चम्बा मिंजर, सायर मेले और जागरा मेले का विशेष उल्लेख किया।

उन्होंने मिंजर के अवसर पर राज्य की जनता को बधाई भी दी। उन्होंने कहा कि यह राज्य और यहां के लोगों के प्रति प्रधानमंत्री के स्नेह एवं उनकी उदारता को दर्शाता है।

मुख्यमंत्री ने मिंजर महोत्सव के अवसर पर इस उत्सव को अंतरराष्ट्रीय दर्जा देने की भी घोषणा की। उन्होंने चम्बा चौगान के सौंदर्य को और अधिक निखारने के लिए यहां रोशनी की उचित व्यवस्था करने की भी घोषणा की।

प्रदर्शनी का उद्घाटन किया

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों, बोर्डों और निगमों द्वारा हिमाचल तब और अब थीम पर आधारित प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के गठन के 75 वर्षों पर आधारित गीत भी जारी किया गया।

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा निर्मित हिमाचल प्रदेश के 75 वर्षों के गौरवशाली इतिहास पर आधारित एक वृत्तचित्र को भी प्रदर्शित किया गया।

मुख्यमंत्री ने 13.68 करोड़ रुपए लागत की भरेड़ी, सिल्लाघराट सड़क के उन्नयन कार्य, 3.24 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित जिला रोजगार कार्यालय चम्बा के माडल कैरियर सेंटर भवन, 80 लाख रुपए की लागत के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र धुलाड़ा के भवन का उद्घाटन और चम्बा में 3.50 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित होने वाले राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के कर्मचारियों के लिए आवासीय भवनों का शिलान्यास किया।

विधायक पवन नैय्यर ने जताया आभार

चम्बा के विधायक पवन नैय्यर ने मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से राष्ट्रीय मिंजर महोत्सव चम्बा को अंतरराष्ट्रीय दर्जा देने का आग्रह किया।

उन्होंने चम्बा जिले विशेषकर चम्बा विधानसभा क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक आवश्यकताओं के प्रति संवदेनशीलता दिखाने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

उन्होंने क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों का भी विवरण दिया।

इस अवसर पर राज्य विधानसभा के उपाध्यक्ष डा. हंसराज, मुख्य सचेतक बिक्रम जरयाल, कृषि विपणन बोर्ड के अध्यक्ष डीएस ठाकुर, नगर परिषद की अध्यक्ष नीलम नैय्यर, जिला भाजपा अध्यक्ष जसवीर नागपाल, मंडल अध्यक्ष चम्बा विनोद कुमार, अन्य स्थानीय भाजपा नेता और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें : एचपी सीएम ने हाटी समुदाय के विषय पर केंद्रीय गृह मंत्री से चर्चा की

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने चम्बा में मन की बात कार्यक्रम सुना

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular