Monday, October 3, 2022
Homeहिमाचल प्रदेशजंजैहली पर्यटन महोत्सव के समापन समारोह में पहुंचे हिमाचल सीएम

जंजैहली पर्यटन महोत्सव के समापन समारोह में पहुंचे हिमाचल सीएम

जंजैहली पर्यटन महोत्सव के समापन समारोह में पहुंचे हिमाचल सीएम

इंडिया न्यूज, Shimla (Himachal Pradesh)

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर (Himachal CM) ने आज मंडी जिले के सराज विधानसभा क्षेत्र में जंजैहली पर्यटन महोत्सव-2022 (Janjehli Tourism Festival) के समापन समारोह (closing ceremony) के अवसर पर लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए एक व्यापक विकास योजना तैयार की जाएगी ताकि यह एक प्रमुख पर्यटन गंतव्य के रूप में उभर सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जंजैहली पर्यटन महोत्सव का मुख्य उद्देश्य क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देना है जो प्राकृतिक सौंदर्य और स्वास्थ्यप्रद जलवायु से परिपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि समूचे क्षेत्र में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं और पर्यटन की दृष्टि से विकसित किए जाने से यह प्रदेश में एक नए पर्यटन गंतव्य के रूप में उभरेगा।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में शिकारी माता मंदिर न केवल धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है, बल्कि पर्यटकों के लिए पसंदीदा गंतव्य के रूप में भी उभरा है।

राज्य सरकार क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए पर्यटन ढांचे को तैयार करने के लिए प्रतिबद्ध है।

नई राहें-नई मंजिलें योजना

जय राम ठाकुर (Jai Ram Thakur) ने कहा कि राज्य में एडीबी परियोजना के अंतर्गत नई राहें-नई मंजिलें योजना के तहत नए पर्यटन स्थल विकसित किए जा रहे हैं।

जंजैहली में क्लब महिंद्रा की एक बड़ी पर्यटन परियोजना विकसित की जा रही है जिसे कुछ महीनों में पूरा कर लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि 3.60 करोड़ की लागत से जंजैहली में निर्मित निरीक्षण कुटीर का आज लोकार्पण किया गया जो यहां आने वाले पर्यटकों को सुविधा प्रदान करने में एक मील का पत्थर साबित होगा।

प्रमुख पर्यटन स्थलों को सड़कों से जोड़ा

मुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र के सभी प्रमुख पर्यटन स्थलों को सड़कों से जोड़ दिया गया है जिससे निश्चित रूप से क्षेत्र में पर्यटन विकास को बढ़ावा मिलेगा।

उन्होंने कहा कि भविष्य में यह क्षेत्र न केवल देश, बल्कि विश्वभर से आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनेगा।

जंजैहली-रायगढ़-शिकारी माता मार्ग का उन्नयन

जय राम ठाकुर ने कहा कि शिकारी माता मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं और पर्यटकों की सुविधा के लिए जंजैहली-रायगढ़-शिकारी माता मार्ग का उन्नयन 7.36 करोड़ की लागत से किया गया है।

ढीम-कटारू में 6.74 करोड़ की लागत से सराज कला मंच का निर्माण किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के हर क्षेत्र का समग्र एवं समान विकास सुनिश्चित कर रही है और उन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है जो किसी न किसी कारणवश उपेक्षित रहे।

महिला यात्रियों को बसों में सुविधा

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार महिला यात्रियों को हिमाचल पथ परिवहन निगम की साधारण बसों में किराए में 50 प्रतिशत की छूट देगी, जबकि घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को 125 यूनिट तक प्रति माह मुफ्त बिजली दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में भी मुफ्त पानी उपलब्ध करवा रही है। उन्होंने कहा कि यह हैरानी की बात है कि इन फैसलों को कांग्रेसी नेता स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं।

 

मेला समिति की स्मारिका का विमोचन

उन्होंने इस अवसर पर मेला समिति द्वारा प्रकाशित स्मारिका का विमोचन किया। उन्होंने मेले के दौरान आयोजित मिसेज एवं मिस सराज प्रतियोगिता के विजेताओं को भी सम्मानित किया।

किरण ने मिसेज सराज और तृप्ता चौहान ने मिस सराज का ताज पहना, जबकि रूप सिंह को मेलाडी आफ सराज चुना गया। उन्होंने इस अवसर पर विभिन्न विजेताओं को भी पुरस्कृत किया।

जंजैहली में खोला जाएगा वन मंडलाधिकारी कार्यालय

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी औपचारिकताओं के पूर्ण होने पर जंजैहली में वन मंडलाधिकारी कार्यालय खोला जाएगा। इसके अतिरिक्त, प्राथमिक विद्यालय भलवाड़ को माध्यमिक विद्यालय में स्तरोन्नत किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जंजैहली स्थित कमरूनाग मंदिर को विकसित करने का मामला भाषा कला एवं संस्कृति विभाग के साथ उठाया जाएगा।

उन्होंने इस अवसर पर कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रत्येक महिला मंडल को 11,000 रुपए देने की घोषणा की। इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए।

मुख्यमंत्री ने जंजैहली बाजार में आग की घटना से प्रभावित स्थल का दौरा किया और प्रभावित परिवार को हरसंभव सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया।

सराज विधानसभा क्षेत्र में विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने सराज विधानसभा क्षेत्र (Saraj Assembly Constituency) के लिए ढीम कटारू में लगभग 64 करोड़ रुपए की 19 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए।

जय राम ठाकुर ने 51.46 करोड़ रुपए की 12 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण किए।

इनमें 5.58 करोड़ की लागत से निर्मित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जरोल में विज्ञान प्रयोगशाला, 2.85 करोड़ की लागत से निर्मित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला संगलवाड़ा के भवन, जंजैहली-बाखली-गाडागुसैणी सड़क पर बाखली खड्ड पर 2.83 करोड़ की लागत से निर्मित पुल, गांव रामपुर तक 2.50 करोड़ रुपए की जंजैहली-बाखली-गाडागुसैणी-तुंगासी सड़क, 7.36 करोड़ रुपए से स्तरोन्नत की गई जंजैहली-रायगढ़-शिकारी माता सड़क, 7.30 करोड़ रुपए की बंथल-सनारली-शंकर देहरा-रायगढ़ सड़क, जंजैहली में 46 लाख रुपए से निर्मित प्रोजैंसी एवं डैमोस्ट्रेशन आरचर्ड प्रभारी के कार्यालय एवं आवासीय भवन, जंजैहली में 5.47 करोड़ रुपए के 33/22 केवी सब-स्टेशन, तहसील थुनाग के अंतर्गत जंजैहली में 11.57 करोड़ रुपए की विभिन्न जलापूर्ति योजनाओं के संवर्धन, जंजैहली में 3.58 करोड़ रुपए के निरीक्षण कुटीर, जंजैहली से लम्बाथाच तक 1.46 करोड़ की लागत से बाखली खड्ड के दोनों ओर सिंचाई सुविधा और 50 लाख की लागत से निर्मित वन विश्राम गृह बायला के अतिरिक्त भवन का लोकार्पण शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ने 11.95 करोड़ रुपए की 7 विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास भी किए।

इनमें ढीम कटारू में 6.74 करोड़ रुपए से बनने वाले सराज कला मंच, ग्राम पंचायत ढीम कटारू के कटारू में 1.10 करोड़ रुपए से बनने वाले शापिंग काम्पलैक्स एवं पंचायत समिति अतिथि गृह, ग्राम पंचायत तुंगधार के कुथाह में 90 लाख रुपए के पंचायत सामुदायिक बहुउद्देश्यीय केंद्र एवं जंजघर, ग्राम पंचायत बुंगरैल चौक के रैल चौक में 90 लाख रुपए के बहुउद्देश्यीय सामुदायिक केंद्र, जंजैहली में 88 लाख रुपए से बनने वाले विषय वाद विशेषज्ञ (SMS) कार्यालय एवं आवास, तहसील थुनाग के ढीम कटारू में 49 लाख रुपए से जंजैहली की विभिन्न जलापूर्ति योजनाओं के स्रोत सुदृढ़ीकरण कार्य और चिलमगढ़ में 94 लाख रुपए से निर्मित किए जाने वाले किसान भवन का शिलान्यास शामिल है।

शिकारी देवी मंदिर में पूजा-अर्चना

मुख्यमंत्री ने शिकारी देवी मंदिर में पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने स्वच्छता अभियान में भी भाग लिया।

उपमंडल अधिकारी थुनाग एवं मेला समिति के अध्यक्ष पारस अग्रवाल ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि जंजैहली पर्यटन उत्सव वर्ष 2017 से मनाया जा रहा है और इस उत्सव के दौरान अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री की पत्नी एवं हिमाचल प्रदेश रेडक्रास सोसायटी अस्पताल कल्याण शाखा की अध्यक्षा डा. साधना ठाकुर, उपायुक्त अरिंदम चौधरी, पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री, भाजपा मंडलाध्यक्ष बिशम शर्मा, टीकम चंद, गुलजारी लाल, कमल चंद राणा, खेम दासी सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें : सुलाह को दिलाई श्रेष्ठ और विकसित हलके की पहचान – विपिन सिंह परमार

Connect With Us : Twitter | Facebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular