Saturday, February 4, 2023
Homeहिमाचल प्रदेशहिमाचल के मुख्यमंत्री ने मंडी में 4 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और...

हिमाचल के मुख्यमंत्री ने मंडी में 4 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए

- Advertisement -

हिमाचल के मुख्यमंत्री ने मंडी में 4 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए

  • मंडी में 28.55 करोड़ रुपए के मातृ एवं शिशु अस्पताल भवन और 2.36 करोड़ रुपए के आदर्श करियर केंद्र का लोकार्पण किया

इंडिया न्यूज, Shimla (Himachal Pradesh)

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Himachal CM) ने सोमवार को मंडी (Mandi) में 62.16 करोड़ रुपए की 4 विकासात्मक परियोजनाओं (4 developmental projects) के लोकार्पण और शिलान्यास (inaugurates and lays foundation stones) किए।

मुख्यमंत्री ने कांगनीधार में विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित एचपीएचडीपी के तहत 1.30 करोड़ की लागत से मुख्य मार्केट यार्ड के उन्नयन और सुदृढ़ीकरण, मंडी में 28.55 करोड़ की लागत से निर्मित 100 बिस्तरों की क्षमता के मातृ एवं शिशु अस्पताल भवन और 2.36 करोड़ की लागत से निर्मित आदर्श करियर केंद्र का लोकार्पण किया।

उन्होंने कांगनी में 29.02 करोड़ रुपए से निर्मित होने वाली अनाज मंडी का भी शिलान्यास किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने ह्यबेटी है अनमोलह्ण कार्यक्रम के तहत एक बालिका को सम्मानित किया और अपने साथ लोकार्पण और शिलान्यास करने का अवसर प्रदान किया।

बेहतरीन मंच साबित होगा आदर्श करियर केंद्र

इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आदर्श करियर केंद्र रोजगार के अवसरों के लिए तैयारी कर रहे प्रतिभागियों और विद्यार्थियों को परामर्श प्रदान करने का बेहतरीन मंच साबित होगा।

उन्होंने कहा कि आदर्श करियर केंद्र बड़े पैमाने पर एनसीएस पोर्टल पर काम करेगा। यह पोर्टल प्रतिभागियों को पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध करवाने के अलावा व्यक्तित्व विकास के माध्यम से कौशल उन्नयन की भी सुविधा उपलब्ध करवाएगा।

यह केंद्र प्रतिभागियों को स्वयं पंजीकरण की प्रक्रिया को समझने और परिसर साक्षात्कार प्रक्रिया की तैयारी करने में भी सहायक होगा।

अनाज मंडी के प्रथम चरण पर खर्च होंगे 15 करोड़

जयराम ठाकुर ने कहा कि इस अनाज मंडी का प्रथम चरण 15 करोड़ की लागत से निर्मित होगा। उन्होंने कहा कि इस अनाज मंडी का निर्माण करने के लिए 20 बीघा से अधिक भूमि प्रदान की गई है जोकि किसानों तथा व्यापारियों के लिए लाभदायक सिद्ध होगी।

उन्होंने कहा कि माताओं और बच्चों की स्वास्थ्य आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए 29 करोड़ की लागत से 100 बिस्तरों की क्षमता वाले मातृ एवं शिशु अस्पताल को सभी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस किया जाएगा।

उन्होंने मंडी और सुंदरनगर में 2 मातृ एवं शिशु अस्पताल प्रदान करने के लिए तत्कालीन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा का भी आभार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान इन अस्पतालों में कुछ भी नहीं किया लेकिन वर्तमान राज्य सरकार ने सत्ता में आने के तुरंत पश्चात निर्माण कार्य में तेजी लाई।

जिला मंडी में अभूतपूर्व विकास सुनिश्चित हुआ

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार के कार्यकाल के दौरान राज्य में विशेषकर जिला मंडी में अभूतपूर्व विकास सुनिश्चित हुआ है।

उन्होंने कहा कि चिकित्सा विश्वविद्यालय, राज्य विश्वविद्यालय, शिवधाम, देव सदन इत्यादि कुछ परियोजनाएं हैं जो जिला मंडी के विकास के इतिहास में मील पत्थर साबित होंगे।

उन्होंने कहा कि 27 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय महाविद्यालय मंडी का भवन 2 माह के भीतर जनता को समर्पित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मंडी शहर में बेहतर पार्किंग सुविधा उपलब्ध करवाने के प्रयास भी किए जाएंगे।

जनता की विकासात्मक जरूरतों की समझ

जयराम ठाकुर ने कहा कि विनम्र पृष्ठभूमि से संबंध रखने के कारण वह आम जनता की विकासात्मक जरूरतों को समझते हैं।

उन्होंने कहा कि शिमला के सचिवालय एवं ओक ओवर, मंडी, सोलन तथा धर्मशाला में मुख्यमंत्री व अन्य मंत्रियों से लोगों द्वारा भेंट कर उनकी जन समस्याओं के समाधान करने के लिए संवाद सदन निर्मित किए गए।

उन्होंने कहा कि इसी प्रकार के संवाद सदन मनाली, ऊना और राज्य के अन्य भागों में भी निर्मित किए जा रहे हैं।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता पर विकास न करवाने का आरोप

मुख्यमंत्री ने जिले के वरिष्ठ कांग्रेस नेता द्वारा कई कार्यकाल तक सत्ता में रहने के बावजूद जिले में किसी भी प्रकार का विकास न करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि वही नेता अब वर्तमान प्रदेश सरकार द्वारा जिला मंडी में किसी भी प्रकार का विकास न करने का आरोप लगा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जिला मंडी में हवाई अड्डा अवश्य बनेगा जिससे जिले की आर्थिकी में बहुत बदलाव आएगा।

उन्होंने कहा कि नई जनगणना का कार्य पूरा होने पर राज्य सरकार नगर निगम मंडी में शामिल किए गए क्षेत्रों को इससे बाहर निकालने पर विचार करेगी क्योंकि नई जनगणना के पश्चात आवश्यकता मापदंड पूर्ण करने के लिए मंडी नगर में उपयुक्त जनसंख्या सुनिश्चित हो जाएगी।

लोगों को मुख्यमंत्री से बहुत उम्मीदें: अनिल शर्मा

विधायक अनिल शर्मा ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मंडी जिला से होने के कारण लोगों को मुख्यमंत्री से बहुत उम्मीदें हैं।

उन्होंने कहा कि एक बागवान होने के नाते वह किसानों की मुश्किलों को भली-भांति समझते हैं। उन्होंने कहा कि मंडी शहर को सीवरेज योजना और इंदिरा मार्केट उपलब्ध करवाने का श्रेय पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय पंडित सुखराम की दूरदर्शिता थी।

उन्होंने क्षेत्र की विकासात्मक मांगों को भी मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से शहर में उचित परिवहन क्षेत्र उपलब्ध करवाने का भी आग्रह किया।

किसानों को बिचौलियों से मिलेगी मुक्ति

कृषि विपणन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव भंडारी ने इस अनाज मंडी के लिए जिले के लोगों को बधाई देते हुए कहा कि इससे किसानों को बिचौलियों से मुक्ति मिलेगी और उन्हें उनकी उपज का उचित मूल्य मिल पाएगा।

उन्होंने कहा कि सोलन जिले के परवाणु में एक फूल मंडी भी स्थापित की गई है जोकि क्षेत्र में फूलों की खेती करने वालों के लिए वरदान साबित होगी।

एपीएमसी मंडी के अध्यक्ष दलीप ठाकुर ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कांगनी में 29.06 करोड़ की लागत से बनने वाली अनाज मंडी का शिलान्यास करने के लिए उनका आभार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि मार्केट यार्ड किसानों को उनकी उपज का उनके घरों के पास विपणन करने में भी मदद करेगा।

इस अवसर पर विधायक राकेश जम्वाल, विनोद कुमार, जवाहर ठाकुर, इंद्र सिंह गांधी, पूर्व विधायक डीडी ठाकुर और कन्हैया लाल, वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष राजबली, महिला मोर्चा मंडी की अध्यक्ष सुमन ठाकुर, उपायुक्त मंडी अरिंदम चौधरी और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें : अनुराग ठाकुर ने आटोमेटिक सेनेटरी पैड प्रोडक्शन मशीन का किया शुभारंभ

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular