Saturday, November 26, 2022
Homeहिमाचल प्रदेशHindu Calendar and Zodiac Signs for March 8, 2022 : 8 मार्च...

Hindu Calendar and Zodiac Signs for March 8, 2022 : 8 मार्च 2022 का हिंदू पंचांग एवं राशियां

- Advertisement -

Hindu Calendar and Zodiac Signs for March 8, 2022 : 8 मार्च 2022 का हिंदू पंचांग एवं राशियां

दिनाँक-: 08/03/2022, मंगलवार
षष्ठी, शुक्ल पक्ष
फाल्गुन
“”””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि———– षष्ठी 24:30:30 तक
पक्ष———————– शुक्ल
नक्षत्र——- कृत्तिका 32:30:08
योग———–वैधृति 24:26:03
करण——- कौलव 11:27:03
करण———-तैतुल 24:30:30
वार——————- मंगलवार
माह——————– फाल्गुन
चन्द्र राशि ——– मेष 12:29:32
चन्द्र राशि ———————वृषभ
सूर्य राशि—————– कुम्भ
रितु———————–शिशिर
सायन———————वसन्त
आयन—————- उत्तरायण
संवत्सर——————– प्लव
संवत्सर (उत्तर) ————-आनंद
विक्रम संवत————–2078
विक्रम संवत (कर्तक)—- 2078
शाका संवत————– 1943

वृन्दावन
सूर्योदय————- 06:37:50
सूर्यास्त————– 18:22:27
दिन काल———– 11:44:37
रात्री काल———- 12:14:18
चंद्रोदय————– 09:58:02
चंद्रास्त————– 23:48:49

लग्न—-कुम्भ 23°16′ , 323°16′

सूर्य नक्षत्र——— पूर्वाभाद्रपदा
चन्द्र नक्षत्र————- कृत्तिका
नक्षत्र पाया—————–लोहा

??? पद, चरण ???

अ—- कृत्तिका 12:29:32

ई—- कृत्तिका 19:08:01

उ—- कृत्तिका 25:48:17

??? ग्रह गोचर ???

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद
==========================
सूर्य=कुम्भ 23:12 ‘पू o भा o , 1 से
चन्द्र =मेष 27°23, कृतिका , 1 अ
बुध = कुम्भ 02 ° 07 ‘ धनिष्ठा ‘ 3 गु
शुक्र=मकर 07°05, उ oषा o ‘ 4 जी
मंगल=मकर 05°30 ‘ उ o षा o ‘ 3 जा
गुरु=कुम्भ 20°30 ‘ पू o भा o, 1 से
शनि=मकर 24°33 ‘ धनिष्ठा ‘ 1 गा
राहू=(व)वृषभ 02°00’ कृतिका , 2 ई
केतु=(व)वृश्चिक 02°00 विशाखा , 4 तो

??? मुहूर्त प्रकरण ???

राहू काल 15:26 – 16:54 अशुभ
यम घंटा 09:34 – 11:02 अशुभ
गुली काल 12:30 – 13:58 अशुभ
अभिजित 12:07 -12:54 शुभ
दूर मुहूर्त 08:59 – 09:46 अशुभ
दूर मुहूर्त 23:17 – 24:04* अशुभ

?चोघडिया, दिन
रोग 06:38 – 08:06 अशुभ
उद्वेग 08:06 – 09:34 अशुभ
चर 09:34 – 11:02 शुभ
लाभ 11:02 – 12:30 शुभ
अमृत 12:30 – 13:58 शुभ
काल 13:58 – 15:26 अशुभ
शुभ 15:26 – 16:54 शुभ
रोग 16:54 – 18:22 अशुभ

?चोघडिया, रात
काल 18:22 – 19:54 अशुभ
लाभ 19:54 – 21:26 शुभ
उद्वेग 21:26 – 22:58 अशुभ
शुभ 22:58 – 24:30* शुभ
अमृत 24:30* – 26:01* शुभ
चर 26:01* – 27:33* शुभ
रोग 27:33* – 29:05* अशुभ
काल 29:05* – 30:37* अशुभ

?होरा, दिन
मंगल 06:38 – 07:37
सूर्य 07:37 – 08:35
शुक्र 08:35 – 09:34
बुध 09:34 – 10:33
चन्द्र 10:33 – 11:31
शनि 11:31 – 12:30
बृहस्पति 12:30 – 13:29
मंगल 13:29 – 14:28
सूर्य 14:28 – 15:26
शुक्र 15:26 – 16:25
बुध 16:25 – 17:24
चन्द्र 17:24 – 18:22

?होरा, रात
शनि 18:22 – 19:24
बृहस्पति 19:24 – 20:25
मंगल 20:25 – 21:26
सूर्य 21:26 – 22:27
शुक्र 22:27 – 23:28
बुध 23:28 – 24:30*
चन्द्र 24:30* – 25:31
शनि 25:31* – 26:32
बृहस्पति 26:32* – 27:33
मंगल 27:33* – 28:34
सूर्य 28:34* – 29:36
शुक्र 29:36* – 30:37

?? उदयलग्न प्रवेशकाल ??

कुम्भ > 05:36 से 07:02 तक
मीन > 07:02 से 08:33 तक
मेष > 08:33 से 11:16 तक
वृषभ > 11:16 से 12:57 तक
मिथुन > 12:57 से 14:21 तक
कर्क > 14:21 से 16:45 तक
सिंह > 16:45 से 17:47 तक
कन्या > 17:47 से 09:01 तक
तुला > 09:01 से 11:28 तक
वृश्चिक > 11:28 से 02:40 तक
धनु > 02:40 से 03:44 तक
मकर > 03:44 से 05:36 तक

?विभिन्न शहरों का रेखांतर (समय) संस्कार

(लगभग-वास्तविक समय के समीप)
दिल्ली +10मिनट——— जोधपुर -6 मिनट
जयपुर +5 मिनट—— अहमदाबाद-8 मिनट
कोटा +5 मिनट———— मुंबई-7 मिनट
लखनऊ +25 मिनट——–बीकानेर-5 मिनट
कोलकाता +54—–जैसलमेर -15 मिनट

नोट– दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

?दिशा शूल ज्ञान————-उत्तर
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा गुड़ खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

? अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

6 + 3 + 1 = 10 ÷ 4 = 2 शेष
आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

?? ग्रह मुख आहुति ज्ञान ??

सूर्य नक्षत्र से अगले 3 नक्षत्र गणना के आधार पर क्रमानुसार सूर्य , बुध , शुक्र , शनि , चन्द्र , मंगल , गुरु , राहु केतु आहुति जानें । शुभ ग्रह की आहुति हवनादि कृत्य शुभपद होता है

बुध ग्रह मुखहुति

? शिव वास एवं फल -:

6 + 6 + 5 = 17 ÷ 7 = 3 शेष

वृषभारूढ़ = शुभ कारक

?भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

?? विशेष जानकारी ??

* दुर्गा पूजन प्रारम्भ (बंगाल)

* मंगल पाण्डये शहीद दिवस

??? शुभ विचार ???

मूर्खश्चिरायुर्जातोऽपि तस्माज्जातमृतो वरः ।
मृतः स चाऽल्पदुःखाय यावज्जीवं जडोदहेत् ।।
।।चा o नी o।।

एक ऐसा बालक जो जन्मते वक़्त मृत था, एक मुर्ख दीर्घायु बालक से बेहतर है. पहला बालक तो एक क्षण के लिए दुःख देता है, दूसरा बालक उसके माँ बाप को जिंदगी भर दुःख की अग्नि में जलाता है.

??? सुभाषितानि ???

गीता -: क्षेत्रक्षेत्रज्ञविभागयोग अo-13

उपद्रष्टानुमन्ता च भर्ता भोक्ता महेश्वरः ।,
परमात्मेति चाप्युक्तो देहेऽस्मिन्पुरुषः परः ॥,

इस देह में स्थित यह आत्मा वास्तव में परमात्मा ही है।, वह साक्षी होने से उपद्रष्टा और यथार्थ सम्मति देने वाला होने से अनुमन्ता, सबका धारण-पोषण करने वाला होने से भर्ता, जीवरूप से भोक्ता, ब्रह्मा आदि का भी स्वामी होने से महेश्वर और शुद्ध सच्चिदानन्दघन होने से परमात्मा- ऐसा कहा गया है॥,22॥,

?? दैनिक राशिफल ??

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

मेष
लाभ के अवसर हाथ आएंगे। बाहरी सहायता से कार्यों में गति आएगी। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। नौकरी में चैन रहेगा। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। शारीरिक कष्ट की आशंका है, अत: लापरवाही से बचें। प्रसन्नता बनी रहेगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी।

वृष
चोट व दुर्घटना से शारीरिक हानि की आशंका है। विवाद को बढ़ावा न दें। अतिउत्साह हानिप्रद रहेगा। कुसंगति से बचें। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। किसी उलझन में फंस सकते हैं। विवेक से निर्णय लें। सार्वजनिक स्थान पर लोगों का ध्यान नहीं खींच पाएंगे। धैर्य रखें।

मिथुन
संबंधियों तथा मित्रों की सहायता करने का अवसर प्राप्त होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड से मनोनुकूल लाभ होगा। स्वास्थ्य कमजोर होगा। किसी बाहरी व्यक्ति पर भरोसा न करें।

कर्क
दु:खद समाचार मिल सकता है। भागदौड़ रहेगी। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। मानसिक बेचैनी रहेगी। प्रियजनों के साथ रिश्तों में खटास आ सकती है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। अपरिचितों पर अंधविश्वास न करें। कारोबार ठीक चलेगा। आय होगी। धैर्य रखें।

सिंह
स्थायी संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। परीक्षा, साक्षात्कार व करियर संबंधी कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। मान-सम्मान मिलेगा। नौकरी में प्रशंसा प्राप्त होगी। यात्रा लाभदायक रहेगी। जोखिम न उठाएं। थकान महसूस होगी।

कन्या
शैक्षणिक व शोध इत्यादि कार्यों के परिणाम सुखद रहेंगे। पार्टी व पिकनिक का आयोजन हो सकता है। नौकरी कार्य में उत्साह व प्रसन्नता से सफलता प्राप्त होगी। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। निवेशादि लाभदायक रहेंगे। भाग्य का साथ रहेगा। जल्दबाजी न करें।

तुला
यात्रा लाभदायक रहेगी। काफी समय से रुका हुआ धन प्राप्ति के आसार हैं। भरपूर प्रयास करें। आय में वृद्धि होगी। कारोबार मनोनुकूल लाभ देगा। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। नौकरी में मातहतों का सहयोग मिलेगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है। जल्दबाजी न करें।

वृश्चिक
राजकीय बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। धार्मिक कृत्यों में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। व्यस्तता रहेगी। थकान महसूस होगी। किसी लंबे प्रवास की योजना बनेगी। कारोबार लाभदायक रहेगा। नौकरी में कार्यभार रहेगा।

धनु
बेरोजगारी दूर होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। प्रतिद्वंद्वी पस्त होंगे। घर-बाहर प्रसन्नता का माहौल रहेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। कोई रुका हुआ कार्य पूर्ण होने के योग हैं।

मकर
घर में अतिथियों का आगमन होगा। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। लंबे प्रवास की योजना बनेगी। बड़ा काम करने का मन बनेगा। कारोबार में अनुकूलता रहेगी। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। जल्दबाजी से बचें।

कुंभ
नई योजना बनेगी। पुराने किए गए निर्णयों का लाभ अब प्राप्त होगा। सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में वृद्धि होगी। नए कार्यकारी अनुबंध हो सकते हैं। नौकरी में चैन रहेगा। घर में तनाव रह सकता है। चिंता में वृद्धि होगी।

मीन
किसी अपने ही व्यक्ति से कहासुनी हो सकती है। स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। फालतू खर्च होगा। असमंजस रहेगा। निर्णय लेने की क्षमता कम होगी। चिंता तथा तनाव रहेंगे। किसी अपरिचित व्यक्ति पर अंधविश्वास न करें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। अशुभ समय। Hindu Calendar and Zodiac Signs for March 8, 2022

Read More : Guest Lecture at HP Central University औषधीय पौधों के संरक्षण का महत्व समझाया

Read More : INDIA NEWS JAN KI BAAT MOST ACCURATE EXIT POLL ON THE RESULT OF 5 STATES : 5 राज्यों के नतीजों पर इंडिया न्यूज-जन की बात का सबसे सटीक एग्जिट पोल

Read More : Civil Services Preliminary Examination will also be held in Dharamsala धर्मशाला में भी होगी सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा

Read More : Kirti Returned Safely from Ukraine धर्मशाला की कीर्ति धीमान यूक्रेन से सकुशल लौटी

Read More : Cabinet Decisions हिमाचल में 3 साल बाद मेधावियों को मिलेंगे लैपटाप

Connect With Us : Twitter | Facebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular