Wednesday, October 5, 2022
Homeहिमाचल प्रदेशमहंगाई पर जेपी नड्डा आ गए कांग्रेस के निशाने पर

महंगाई पर जेपी नड्डा आ गए कांग्रेस के निशाने पर

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के महंगाई पर चुपी साधने पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने हमला बोल दिया है। पार्टी का कहना है कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार महंगाई की विकराल होती स्थिति को गंभीरता से नहीं ले रही है। आज देश व प्रदेश में महंगाई से जनता त्रस्त है लेकिन भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने यहां की जनता को यह तक बताना उचित नहीं समझा कि कैसे इससे उन्हें राहत मिलने वाली है।

महंगाई पर जेपी नड्डा आ गए कांग्रेस के निशाने पर

  • कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता नरेश चौहान का सवाल- महंगाई कम करने के लिए क्या कर रही केंद्र और राज्य सरकार

लोकिन्दर बेक्टा, शिमला।

JP Nadda came on the target of Congress on inflation : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (jp nadda himachal pradesh) के महंगाई पर चुपी साधने पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने हमला बोल दिया है।

पार्टी का कहना है कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार महंगाई की विकराल होती स्थिति को गंभीरता से नहीं ले रही है। आज देश व प्रदेश में महंगाई से जनता त्रस्त है लेकिन भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने यहां की जनता को यह तक बताना उचित नहीं समझा कि कैसे इससे उन्हें राहत मिलने वाली है।

प्रदेश की भाजपा सरकार भी महंगाई से लोगों को राहत दिलाने के लिए कोई कार्य नहीं कर रही है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी (congress himachal pradesh) के वरिष्ठ प्रवक्ता नरेश चौहान ने सोमवार को यहां प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि जगत प्रकाश नड्डा से प्रदेश की जनता को उम्मीद थी कि वह महंगाई को कम करने के लिए उठाए रहे कदमों के बारे में बताएंगे लेकिन वे कुछ नहीं बोले।

उन्होंने कहा कि भाजपा को केवल चुनावों की ही चिंता रहती है। महंगाई से आम जनता की कमर टूट गई है। उसकी कोई फिक्र न तो जेपी नड्डा को है और न भाजपा के अन्य नेताओं को।

उन्होंने कहा कि इससे साफ है कि भाजपा महंगाई को गंभीरता से नहीं ले रही है। उन्होंने कहा कि आज खाने-पीने की वस्तुओं से लेकर नींबू-पानी तक आम आदमी की पहुंच से दूर हो रहा है।

उन्होंने कहा कि कमाई कम हो रही है और महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में लोगों को जीवन यापन करना भी मुश्किल हो रहा है।

भाजपा किस बात का कर रही बड़ा आयोजन

चौहान ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के अपने गृह राज्य आने पर भाजपा ने बड़ा आयोजन करने का प्रयास किया लेकिन सवाल यह है कि यह स्वागत किस बात का हो रहा था।

उन्होंने कहा कि हिमाचल में ऐसी कौन सी स्थिति थी कि आयोजन किया जाए। यही नहीं, 15 हजार लोगों के जुटने का दावा किया जा रहा था लेकिन यहां पर 1,500 लोग ही जुटे।

उन्होंने कहा कि महंगाई हर दिन बढ़ रही है और सरकार चुपी साधे है और अब हालात दिन-प्रतिदिन खराब हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में जब पेट्रोल के दाम कुछ बढ़ते थे तो यही भाजपा हर दिन आंदोलन करती थी लेकिन आज जब पानी सिर से ऊपर जा रहा है तो भाजपा के उन सभी नेताओं को सांप सूंघ गया है।

उन्होंने कहा कि जेपी नड्डा के यहां आने पर लोगों को लगता था कि महंगाई कम करने को लेकर कोई बात बोलेंगे लेकिन वे कुछ नहीं बोले। इससे लगता है कि भाजपा के पास महंगाई को काबू करने का कोई माडल ही नहीं है।

चौहान ने कहा कि चुनाव सामने देख अब प्रदेश में मुख्यमंत्री लोगों को घोषणाओं से लुभाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन अब जनता इनके झांसे में आने वाली नहीं है और चुनावों ने इसका करारा जवाब देगी।

राजधानी में पेयजल समस्या पर सरकार को घेराव

नरेश चौहान ने राजधानी शिमला में पेयजल की बढ़ती समस्या पर जयराम सरकार (jai ram thakur cm hp) को आड़े हाथों लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने पेयजल कंपनी को लोगों को लूटने की खुली छूट दे रखी है।

उन्होंने कहा कि 25 दिनों से शिमला शहर में पेयजल संकट चल रहा है लेकिन मुख्यमंत्री ने आज दिन तक इस संबंध में कोई बैठक तक नहीं की।

इससे साफ है कि सरकार लोगों की समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है और न ही मुख्य सचिव ने कोई बैठक अफसरों के साथ की। इससे स्पष्ट है कि यहां पर अफसरशाही निरंकुश हो चुकी है।

20 दिन से नहीं बदला ट्रांसफार्मर

चौहान ने इस बात पर भी हैरानी जताई कि पेयजल योजना का एक ट्रांसफार्मर 20 दिन तक खराब रहने के बावजूद बदला नहीं जा सका।

उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह (virbhadra singh ex cm) के शासनकाल के दौरान मात्र एक समस्या पेयजल आपूर्ति को लेकर आई थी। उस समय वीरभद्र सिंह ने अधिकारियों की बैठक बुलाकर समस्या को 24 घंटे के भीतर दूर करने को कहा था लेकिन लगता है कि आज मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की कोई नहीं सुनता।

उन्होंने कहा कि आज सरकार की कार्यशैली बहुत ही कमजोर हुई है। उन्होंने कहा कि जयराम ठाकुर बहुत ही कमजोर मुख्यमंत्री साबित हुए हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार को जनता की दिक्कतों से कुछ भी लेना-देना नहीं है। तभी उनका इस ओर कोई ध्यान नहीं है। भाजपा का सारा ध्यान केवल चुनाव प्रबंधन पर ही है। JP Nadda came on the target of Congress on inflation

Read More : लगातार 5वें दिन पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिर, जानिए क्या है आज के रेट

Connect With Us : TwitterFacebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular