Monday, September 26, 2022
Homeहिमाचल प्रदेशपटियाला हिंसा के मामले में तीन दंगाई गिरफ्तार 25 नामजद

पटियाला हिंसा के मामले में तीन दंगाई गिरफ्तार 25 नामजद

पटियाल हिंसा में पुलिस ने छह एफआईआर दर्ज कर ली हैं, जिनमे 25 लोगों को नाम आया है। पुलिस ने शिवसेना पंजाब के निवर्तमान अध्यक्ष हरीश सिंगला, कुलदीप सिंह और दलजीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। पटियाला के नए आईजी मुखविंदर सिंह छीना का कहना है पूरी हिंसा का मास्टरमाइंड रचने वाला सिख कट्टरपंथी बरजिंदर परवाना है।

इंडिया न्यूज़, चंडीगढ़

पटियाला (Patiala) हिंसा में पुलिस (police) ने छह एफआईआर (FIR) दर्ज कर ली हैं, जिनमे 25 लोगों को नाम आया है। पुलिस ने शिवसेना पंजाब (Shiv Sena Punjab) के निवर्तमान अध्यक्ष हरीश सिंगला (Outgoing President Harish Singla) कुलदीप सिंह और दलजीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। पटियाला के नए आईजी मुखविंदर सिंह छीना (IG Mukhwinder Singh Chhina) का कहना है पूरी हिंसा का मास्टरमाइंड रचने वाला सिख कट्टरपंथी बरजिंदर परवाना (Sikh fundamentalist Barjinder Parwana) है।

पुलिस ने परवाना के खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया है। आईजी ने कहा है कि उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके अलावा खालिस्तान के विरोधी मार्च निकालने वाले हरीश सिंगला को भी दो दिन के रिमांड पर पूछताछ की जा रही है।

पटियाला के पुलिस ऑफिसरों को हटा दिया गया

इससे पहले भी खालिस्तान के विरोधी मार्च में हुई हिंसा के मामले सामने आये हैं जिनमे पंजाब सरकार ने पटियाला के आईजी राकेश अग्रवाल और एसएसपी नानक सिंह को हटा दिया है। इनकी जगह पर मुखविंदर सिंह छीना नए आईजी और दीपक पारिख नए एसएसपी बनाए दिए गए हैं। सिटी के एसपी को हटाकर उसकी जगह वजीर सिंह खैहरा को लाया गया है।

इनके अलावा थाना लाहौरी गेट के एसएचओ गुरप्रीत सिंह और कोतवाली के एसएचओ बिक्रम सिंह को भी हटाया गया है। इसी बीच पुलिस ने हिंदू संगठनों को रोष मार्च न निकालने के लिए मनाया है, अब हिन्दू संगठन रोष मोर्चा नहीं निकालेंगे। इन हालातों में सुधर आते ही शनिवार को साढ़े चार बजे ही पटियाला में इंटरनेट और एसएमएस सेवा चला दे गयी है।

पटियाला हिंसा के मामले में तीन दंगाई गिरफ्तार 25 नामजद

भाजपा और शिवसेना के साथ अकाली दल भी था हमले में शामिल

सीएम भगवंत मान ने कहा है कि इस मामले को लेकर केस दर्ज हो चुका है। कुछ लोगों को अरेस्ट कर लिए है। इस हिंसा में ज्यादातर भाजपा और शिवसेना के लोग थे। इसके अलावा दूसरी तरफ अकाली दल के लोग भी थे। यह दो राजनीतिक दलों का टकराव हुआ था, इसे किसी धर्म या समुदाय से नहीं जोड़ा जाएगा। उन्होंने ये भी कहा कि मामले की पूरी जांच हो रही है, जल्द ही सच सबके सामने आने वाला है। आप सरकार से घबराकर विपक्षी दाल ने ये सब कुछ किया है।

ये भी पढ़ें: सिविल अस्पताल में ऑपरेशन के दौरान एक 37 वर्षीय महिला की मौत

ये भी पढ़ें: कुपोषण और एनीमिया से समाज को दूर रखना सभी की जिम्मेवारी – डॉ0 निपुण जिंदल

ये भी पढ़ें: ज्वाली विधानसभा की ग्राम पंचायत हार आज भी सड़क सुविधा से वंचित

Connect With Us : Twitter | Facebook

Sachin
Sachin
Learner , Hardworking , Aquarius hu toh samajh lo kya kya hounga .....
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular