Wednesday, September 28, 2022
Homeहिमाचल प्रदेशहिमाचल में 4 वर्षों में विद्युत बोर्ड में 4052 पदों पर भर्तियां:...

हिमाचल में 4 वर्षों में विद्युत बोर्ड में 4052 पदों पर भर्तियां: जयराम ठाकुर

हिमाचल में 4 वर्षों में विद्युत बोर्ड में 4052 पदों पर भर्तियां: जयराम ठाकुर

  • मुख्यमंत्री ने राज्य विद्युत बोर्ड तकनीकी कर्मचारी संघ के 9वें त्रैवार्षिक साधारण अधिवेशन को किया सम्बोधित
  • प्रदेश विद्युत बोर्ड सब-स्टेशन अटेंडेंट के पद पर कार्यरत नान आईटीआई कर्मचारियों के लिए पदोन्नति सेवा काल 10 वर्ष से घटाकर 7 वर्ष करने की घोषणा

इंडिया न्यूज, शिमला।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Chief Minister Jai Ram Thakur) ने कहा है कि विकास के लाभ जन-जन तक पहुंचाने और कल्याणकारी नीतियों के कार्यान्वयन में प्रदेश के कर्मचारियों की भूमिका महत्वपूर्ण रही है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश विद्युत बोर्ड (Himachal Pradesh Electricity Board) में पिछले चार वर्षों में 4052 पदों पर विद्युत बोर्ड में भर्तियां की गई हैं। इनमें से 2721 तकनीकी पदों में की गई हैं।

उन्होंने कहा कि विद्युत बोर्ड के तकनीकी वर्ग में पिछले 4 वर्षों में 3,069 कर्मचारियों को पदोन्नति दी गई है। मुख्यमंत्री रविवार को सोलन जिले के नालागढ़ उपमंडल के बद्दी में हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड तकनीकी कर्मचारी संघ के 9वें त्रैवार्षिक साधारण अधिवेशन को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हर वर्ग के कर्मचारी की समस्याएं सुलझाने के लिए प्रयत्नशील है। प्रदेश के आउटसोर्स कर्मचारियों के हित में राज्य में पहली बार एक समिति का गठन किया गया है।

उन्होंने कहा कि पेंशन मामले पर भी मुख्य सचिव की अध्यक्षता में समिति का गठन किया गया है।

recruitment-on-4052-posts-in-hp-electricity-board-in-4-years-jai-ram-thakur

वर्तमान में 2 लाख से अधिक कर्मचारी

जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में वर्तमान में 2 लाख से अधिक कर्मचारी तथा इतनी ही संख्या में पेंशनभोगी हैं।

उन्होंने कहा कि 40 हजार से अधिक आउटसोर्स कर्मचारी भी राज्य में सेवाएं दे रहे हैं। यह सभी पूर्व एवं वर्तमान कर्मचारी प्रदेश को विकास पथ पर अग्रसर करने में सराहनीय भूमिका निभा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कर्मचारियों की उचित मांगों को पूरा कर रही है और कर्मचारी हित में अनेक ऐसे निर्णय लिए गए हैं जिन्होंने कर्मचारियों के वर्तमान एवं भविष्य को सुरक्षित किया है।

हर वर्ग के विकास के लिए किया कार्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने अपने सवा 4 साल के कार्यकाल में समाज के हर वर्ग के विकास के लिए कार्य किया है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में कर्मचारी हित में लिए गए निर्णय अभूतपूर्व हैं और न केवल कर्मचारियों को उनका जायज हक प्रदान किया गया है, अपितु कोविड-19 संकट के बावजूद पूर्ण वेतन, पेंशन और अन्य लाभ सुनिश्चित बनाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सदैव कर्मचारियों की समस्याओं को सुलझाने के लिए प्रयत्नशील रहेगी।

कार्य के समय सुरक्षा किट पहनें कर्मचारी

जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के विद्युत बोर्ड से सम्बन्धित कर्मचारी विषम परिस्थितियों में भी अपने कार्य को पूर्ण ईमानदारी एवं दक्षता के साथ करते हैं।

उन्होंने कहा कि विद्युत बोर्ड के कर्मियों का कार्य कठिन है और राज्य सरकार यह सुनिश्चित बना रही है कि कार्य के दौरान दुर्घटनाओं इत्यादि में कमी लाई जाए।

उन्होंने विभाग के तकनीकी कर्मचारियों से आग्रह किया कि कार्य के समय सुरक्षा किट का उपयोग करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देश पर विद्युत बोर्ड द्वारा सभी कर्मियों को सुरक्षा किट प्रदान की जा रही है।

हिमाचल पूर्ण रूप से विद्युतीकृत राज्य बना

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश विद्युत बोर्ड के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सहयोग से हिमाचल पूर्ण रूप से विद्युतीकृत राज्य बना है।

वर्तमान राज्य सरकार ने सत्ता संभालते ही विद्युत क्षेत्र के विकास को प्राथमिकता प्रदान की। वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों का शत-प्रतिशत विद्युतीकरण किया गया है।

हाल ही में राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि घरेलू उपभोक्ताओं को 125 यूनिट तक मुफ्त बिजली उपलब्ध करवाई जाएगी।

प्रदेश में 26 लाख विद्युत उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। स्मार्ट सिटी योजना के तहत शिमला व धर्मशाला शहर में 1 लाख 24 हजार स्मार्ट मीटर लगाए गए हैं।

कर्मचारियों की मांगों को सुलझाया जाएगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्युत बोर्ड के तकनीकी कर्मचारियों की मांगों को सुलझाया जाएगा। इस अवसर पर उन्होंने घोषणा की कि प्रदेश विद्युत बोर्ड सब-स्टेशन अटेंडेंट (Himachal Pradesh Electricity Board Sub-Station Attendant) के पद पर कार्यरत नोन आईटीआई कर्मचारियों के लिए पदोन्नति सेवा काल को 10 वर्ष से घटाकर 7 वर्ष किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि टीमेट पद से जूनियर शब्द को हटाने के विषय पर विचार-विमर्श के उपरांत निर्णय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार और कर्मचारियों के मध्य समन्वय ही प्रगति का सूचक है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के कर्मचारियों के सहयोग से ही राज्य प्रगति पथ पर अग्रसर है। उन्होंने कर्मचारियों से आग्रह किया कि सर्वजन हितैषी सरकार को पूर्ण सहयोग प्रदान करें।

जयराम ठाकुर के नेतृत्व में सभी वर्गों को राहत मिली

इस अवसर पर दून के विधायक परमजीत सिंह पम्मी (Doon MLA Paramjit Singh Pammi) ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के गतिशील नेतृत्व में सवा 4 वर्षों में समाज के सभी वर्गों को राहत मिली है और राज्य का एक समान विकास सुनिश्चित हुआ है।

हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड तकनीकी कर्मचारी संघ (Himachal Pradesh State Electricity Board Technical Employees Union) के प्रदेश अध्यक्ष दूनी चंद ने मुख्यमंत्री सहित सभी गणमान्य अतिथियों का स्वागत किया और बोर्ड के तकनीकी कर्मियों की कार्य प्रणाली से अवगत करवाया।

उन्होंने बोर्ड के तकनीकी कर्मचारियों की समस्याओं और मांगों की जानकारी दी और शीघ्र इन्हें सुलझाने का आग्रह किया।

इस अवसर पर नालागढ़ के पूर्व विधायक केएल ठाकुर, प्रदेश गौसेवा आयोग के उपाध्यक्ष अशोक शर्मा, प्रदेश जल प्रबंधन बोर्ड के उपाध्यक्ष दर्शन सिंह सैनी, जिला भाजपा सोलन के अध्यक्ष आशुतोष वैद्य, भाजपा मंडल दून के अध्यक्ष बलबीर ठाकुर, प्रदेश विद्युत बोर्ड के प्रबंध निदेशक पंकज डडवाल, अन्य अधिकारी, हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड तकनीकी कर्मचारी संघ के कार्यकारी अध्यक्ष लक्ष्मण कापटा, संयोजक सुनील शर्मा, महामंत्री नेक राम ठाकुर, अतिरिक्त महामंत्री देवेंद्र संधू, अन्य पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक बद्दी मोहित चावला, अतिरिक्त उपायुक्त सोलन जफर इकबाल, भाजपा तथा भाजयुमो के अन्य पदाधिकारी, अन्य गणमान्य व्यक्ति एवं प्रदेश भर से विद्युत बोर्ड के कर्मचारी उपस्थित थे। हिमाचल में 4 वर्षों में विद्युत बोर्ड में 4052 पदों पर भर्तियां: जयराम ठाकुर

Read More : जेबीटी भर्ती के लिए प्रदेश सरकार की स्वीकृति मंजूर

Connect With Us : Twitter | Facebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular