Saturday, October 1, 2022
Homeहिमाचल प्रदेशसमय के साथ बदला इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज का स्वरूप: भारद्वाज

समय के साथ बदला इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज का स्वरूप: भारद्वाज

समय के साथ बदला इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज का स्वरूप: भारद्वाज

इंडिया न्यूज, Shimla (Himachal Pradesh)

शहरी विकास, आवास, नगर नियोजन, संसदीय कार्य, विधि एवं सहकारिता मंत्री सुरेश भारद्वाज (Bhardwaj) ने आईजीएमसी में एमबीबीएस के छात्र-छात्राओं द्वारा आयोजित 3 दिवसीय सांस्कृतिक तथा खेलकूद प्रतियोगिताओं के प्रोत्साहन-2022 कार्यक्रम के समापन अवसर पर कहा कि समय के बदलाव (changed over time) के साथ आज इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज (Indira Gandhi Medical College) का स्वरूप बदला है जहां नवीनीकरण मशीनों के साथ लोगों के आपरेशन होने आरम्भ हुए हैं।

उन्होंने कहा कि हर बीमारियों के उपचार के लिए अलग-अलग ब्लाक में लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं।

सुरेश भारद्वाज ने कहा कि पहले प्रदेश में एक ही मेडिकल कालेज आईजीएमसी होता था। आज प्रदेश के अन्य जिलों में भी सरकार ने मेडिकल कालेज खोलकर युवा पीढ़ी को अपनी पढ़ाई करने के लिए सुविधा प्रदान की है।

उन्होंने कहा कि इस मेडिकल कालेज से अपनी मेडिकल शिक्षा प्राप्त कर आज प्रदेश तथा देश एवं बाहरी देशों में सेवाएं दे रहे डाक्टरों ने जहां अपना नाम कमाया है, वहीं इस कालेज का नाम भी विश्व मानचित्र में अंकित किया है।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गरीब, असहाय एवं अन्य पिछड़ा वर्ग तथा सभी वर्गों के लिए आयुष्मान भारत, सहारा योजना, हिम केयर योजना का लाभ देकर उन्हें निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जा रही है।

सरकार कर रही 500 डाक्टरों की नियुक्ति

भारद्वाज ने कहा कि सरकार द्वारा 500 डाक्टरों की नियुक्ति की जा रही है जिससे प्रदेश के दूरदराज के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में डाक्टरों की तैनाती की जाएगी जिससे ग्रामीण लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त होगी।

शहरी विकास मंत्री ने कहा कि आईजीएमसी (IGMC) तथा दीन दयाल उपाध्याय (रिपन), कमला नेहरू अस्पताल (KNH) में सरकार ने आक्सीजन प्लांट लगाकर लोगों को सुविधा प्रदान की है।

उन्होंने कहा कि देश में कोविड महामारी की वैक्सीनेशन स्वयं तैयार कर पूरे देश तथा प्रदेश में निशुल्क वैक्सीनेशन की सुविधा प्रदान की जा रही है। देश ने अन्य देशों को भी वैक्सीनेशन दी है।

उन्होंने कहा कि आज जहां देश हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर हुआ है, वहीं प्रदेश भी स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क, पानी, बिजली में अग्रणी राज्य बनकर उभरा है।

उन्होंने उपस्थित सभी छात्र एवं छात्राओं का आह्वान किया कि वे नशे की कुरीतियों से दूर रहें। उन्होंने कहा कि आज युवा पीढ़ी अधिक संख्या में नशे में संलिप्त हो रही है।

देश का भविष्य युवा पीढ़ी के हाथ में

भारद्वाज ने कहा कि युवा पीढ़ी के हाथ में देश का भविष्य है। देश तभी विकास की राह में अग्रसर हो सकेगा जब देश का युवा स्वस्थ तथा मानसिक रूप से भी स्वस्थ रहेगा।

उन्होंने विद्यार्थियों का आह्वान किया कि नशे के विषय में अधिक से अधिक जागरूकता शिविरों का आयोजन कर इस कुरीति को जड़ से खत्म करने का संकल्प लें।

भारद्वाज ने कहा कि सांस्कृतिक तथा अन्य प्रतियोगिताओं में बाहरी राज्यों तथा प्रदेश के मेडिकल कालेजों के लगभग एक हजार छात्र एवं छात्राओं ने भाग लिया।

होनहार स्टूडेंट्स को किया सम्मानित

इस अवसर पर उन्होंने सांस्कृतिक तथा खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने वाले छात्र एवं छात्राओं को सम्मानित भी किया। इस दौरान शहरी विकास मंत्री ने आयोजकों को ऐच्छिक निधि से 51 हजार रुपए देने की घोषणा भी की।

कार्यक्रम में प्रधानाचार्य आईजीएमसी डा. सीता ठाकुर, अतिरिक्त निदेशक आईजीएमसी ईशा ठाकुर, मंडलाध्यक्ष राजेश शारदा, जिला उपाध्यक्ष संजय कालिया, किसान मोर्चा महासंघ सचिव देष्टा, किसान मोर्चा उपाध्यक्ष संजीव चौहान, जिला उपाध्यक्ष किसान मोर्चा जय लाल ठाकुर एवं आईजीएमसी के अन्य डाक्टर तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें : जगत प्रकाश नड्डा को पुरानी यादों ने घेरा, पुराने परिचितों से मिले

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular