Monday, November 28, 2022
HomeDharmshalaदेश के प्रधानमंत्री जन्मे तो गुजरात में हैं, लेकिन हैं हिमाचल के...

देश के प्रधानमंत्री जन्मे तो गुजरात में हैं, लेकिन हैं हिमाचल के – अमित शाह

- Advertisement -

देश के प्रधानमंत्री जन्मे तो गुजरात में हैं, लेकिन हैं हिमाचल के – अमित शाह

 

 

इंडिया न्यूज, धर्मशाला(Dharamshala-Himachal Pradesh)

 

देश के प्रधानमंत्री जन्मे तो गुजरात में हैं, लेकिन हैं हिमाचल के। मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद बिन मांगे ही हिमाचल को सब कुछ दिया है। यह बात केंद्रीय गृह मंत्री एवं भाजपा के स्टार प्रचारक अमित शाह ने बुधवार को धर्मशाला के जोरावर स्टेडियम में विजय संकल्प अभियान के तहत आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

अमित शाह ने कहा कि मोदी के हिमाचल के प्रति लगाव का ही नतीजा है प्रदेश के सबसे बड़े जिला कांगड़ा से दो सांसद किशन कपूर लोकसभा और इंदु गोस्वामी राज्यसभा में हैं।

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस ने जवाहर लाल नेहरू से लेकर सोनिया-मनमोहन की सरकार तक राज किया, इस कार्यकाल के दौरान विकास और जनता के हित में लिए गए निर्णयों का हिसाब कांग्रेस को देना चाहिए।

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के चुनाव प्रचार में राहुल गांधी नहीं आएंगे, क्योंकि वे पद यात्रा में व्यस्त हैं, लेकिन जो भी कांग्रेस के शीर्ष नेता प्रचार के लिए आएं, उनसे 60 वर्ष का हिसाब जनता जरूर मांगे।

हिमाचल देवभूमि के साथ वीरभूमि भी है, जहां देश के प्रथम परमवीर चक्र विजेता हुए हैं। सेना का ऐसा कोई चक्र नहीं है, जिसमें हिमाचल के वीरों के नाम न हों।

हिमाचल के युवा, जिस काम में डट जाते हैं, चाहे वो आजादी का बिगुल रहा हो या देश की सरहदों की रक्षा करना, इनसे कभी भी पीठ नहीं दिखाई है। ऐसे में अब चुनावी बेला में भी वीरभूमि की जनता को भाजपा के पक्ष में जुट जाना चाहिए।

उन्होने कहा कि मां-बेटे की सरकार दिल्ली ही नहीं, बल्कि हिमाचल में भी है। कांग्रेस राज में आए दिन घोटाले होते थे, जबकि पीएम नरेंद्र मोदी वाली भाजपा सरकार में घोटाले ढूंढे नहीं मिल रहे।

अमित शाह ने कहा कि केंद्र में 10 साल तक सोनिया मनमोहन की सरकार रही, उस दौरान हमारे सैनिकों के सिर काटे गए। वर्ष 2014 में भाजपा की सरकार आने पर पाकिस्तान ने फिर वही हरकतें शुरू करते हुए उरी और पुलवामा में हमले किए, उसके 10 दिन बाद ही केंद्र भाजपा सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक करवाकर सैनिकों की शहादत का बदला लिया। शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने देश को सुरक्षित रखने का काम किया है।

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने वर्ष 2019 में अयोध्या में राम मंदिर की नींव रखी। वर्ष 2024 में राम मंदिर का निर्माण पूरा हो जाएगा, ऐसे में अमित शाह ने उपस्थित जनसमूह से आहवान किया कि वर्ष 2024 में अयोध्या का टिकट कटाने और गगनचुम्बी राम मंदिर देखने के लिए तैयार रहें।

अमित शाह ने उपस्थित जनसमूह से फिर से भाजपा की प्रचंड बहुमत से सरकार बनाने का आहवान, प्रदेश में रिवाज बदलेगा। सरकार तो भाजपा की ही बनेगी, लेकिन मुझे धर्मशाला में भी कमल खिला हुआ चाहिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular