Monday, October 3, 2022
HomeKangraराजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग और बी.फार्मेसी कालेज में शीघ्र शुरू होंगी कक्षाएं

राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग और बी.फार्मेसी कालेज में शीघ्र शुरू होंगी कक्षाएं

राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग और बी.फार्मेसी कालेज में शीघ्र शुरू होंगी कक्षाएं

  • एम.टेक, पीएचडी और एम.फार्मा की कक्षाएं की जाएंगी आरम्भ: राम लाल मारकंडा
  • इंजीनियरिंग कालेज में आडिटोरियम बनाने की घोषणा

इंडिया न्यूज, धर्मशाला।

राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग कालेज, नगरोटा बगवां (Rajiv Gandhi Government Engineering College, Nagrota Bagwan) और बी.फार्मेसी कालेज, घोरब (B.Pharmacy College, Ghorab) में शीघ्र ही एम.टेक, पीएचडी और एम.फार्मा (M.Tech, PhD, M.Pharma) की कक्षाएं भी आरम्भ कर दी जाएंगी।

यह जानकारी तकनीकी शिक्षा मंत्री डा. राम लाल मारकंडा (Technical Education Minister Dr. Ram Lal Markanda) ने मंगलवार को बी.फार्मेसी कालेज, घोरब में 3.50 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले आवासीय काम्पलेक्स भवन (residential complex building) की आधारशिला के उपरांत राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग कालेज, नगरोटा बगवां में कैफेटेरिया (cafeteria) का उद्घाटन करने के उपरांत दी।

डा. मारकंडा ने बताया कि प्रदेश सरकार तकनीकी शिक्षा पर विशेष बल दे रही है।

उन्होंने बताया कि वर्तमान में तकनीकी शिक्षा विभाग के तहत 363 तकनीकी शिक्षा एवं औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान क्रियाशील हैं जिनमें 5 इंजीनियरिंग कालेज, 4 फार्मेसी कालेज, 16 बहुतकनीकी संस्थान, 138 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान एवं एक मोटर ड्राइविंग एवं हैवी अर्थ मूविंग मशीनरी आपरेटर स्कूल सरकारी क्षेत्र में तथा 9 इंजीनियरिंग कालेज, 16 फार्मेसी कालेज, 9 बहुतकनीकी संस्थान, 14 डी.फार्मेसी कालेज एवं 151 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान निजी क्षेत्र में कार्यरत हैं।

इंजीनियरिंग कालेज के निर्माण कार्यों पर 48 करोड़ रुपए व्यय

डा. मारकंडा ने कहा कि गत 4 वर्षों के दौरान राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग कालेज के निर्माण कार्यों पर 48 करोड़ रुपए व्यय किए गए हैं।

इसके अतिरिक्त बी.फार्मेसी कालेज, घोरब के निर्माण कार्यों पर 24 करोड़ रुपए और 2.5 करोड़ रुपए कालेज की बाउंड्री वाल के लिए स्वीकृत किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि क्षेत्र में बिजली की समस्या से निजात दिलाने के लिए 5.5 करोड़ रुपए विद्युत सब-स्टेशन (electrical sub-station) के लिए स्वीकृत किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि बलधर में माडल आईटीआई के लिए जब भूमि के दस्तावेज बनकर तैयार हो जाएंगे, तब इसका निर्माण कार्य आरम्भ कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग और बी.फार्मेसी कालेज में सभी श्रेणी के रिक्त पदों को शीघ्र भरा जाएगा।

उन्होंने इंजीनियरिंग कालेज में आडिटोरियम बनाने की घोषणा की तथा अधिकारियों को शीघ्र निर्माण के लिए एस्टीमेट भेजने के दिशा-निर्देश दिए।

डा. मारकंडा ने क्षेत्र के लोगों की समस्याओं को सुना तथा बताया कि उनकी समस्याओं का शीघ्र समाधान किया जाएगा।

मुख्यातिथि का स्वागत किया

इससे पहले निदेशक तकनीकी शिक्षा व्यावसायिक एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग (Department of Technical Education Vocational and Industrial Training) विवेक चंदेल और निदेशक व प्रधानाचार्य राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग कालेज पीपी शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया।

इस अवसर पर विधायक नगरोटा-बगवां अरुण मेहरा, एसडीएम नगरोटा बगवां शशिपाल नेगी, निदेशक व प्रधानाचार्य बी.फार्मेसी कालेज प्रो. एसपी गुलेरिया, निदेशक व प्रधानाचार्य राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग कालेज बिलासपुर प्रो. राजीव अवस्थी, महाविद्यालय के प्राध्यापक, बीडीसी सदस्य, प्रधान ग्राम पंचायत मस्सल सहित कई गणमान्य व्यक्ति व स्थानीय लोग मौजूद थे। राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग और बी.फार्मेसी कालेज में शीघ्र शुरू होंगी कक्षाएं

Read More : मानसिक स्वास्थ्य और मनो-सामाजिक समर्थन कार्यशाला का शुभारंभ

Read More : 283 करोड़ से किया जा रहा शिमला शहर का सौंदर्यीकरण

Read More : शिमला में पानी की कमी को लेकर युवा कांग्रेस का धरना-प्रदर्शन

Read More : रज्जू मार्गों के विकास के लिए एनएचएलएमएल और आरटीडीसी में समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित

Connect With Us : Twitter | Facebook
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular