Wednesday, October 5, 2022
HomeKangraमहिलाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने को सरकार वचनबद्ध: राकेश पठानिया

महिलाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने को सरकार वचनबद्ध: राकेश पठानिया

महिलाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने को सरकार वचनबद्ध: राकेश पठानिया

  • कहा- घर की खुशहाली और आत्मनिर्भरता सरस मेलों का मकसद

इंडिया न्यूज, पालमपुर।

महिलाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने को सरकार वचनबद्ध है और जरूरतमंद महिलाओं को अपने पैरों पर खड़े कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं।

ये शब्द वन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री राकेश पठानिया (Forest, Youth Services and Sports Minister Rakesh Pathania) ने सुलाह निर्वाचन क्षेत्र (Sulah Constituency) के परौर में आयोजित सरस मेले के दूसरे दिन मुख्यतिथि के रूप में शिरकत करने के दौरान व्यक्त किए।

कार्यक्रम आरंभ होने से पूर्व वरिष्ठ नेता, पूर्व केंद्रीय और हिमाचल सरकार में मंत्री रहे पंडित सुखराम के निधन पर 2 मिनट का मौन रखा गया।

उन्होंने उत्सव के रूप में शानदार सरस मेले के आयोजन के लिए बधाई दी और कहा कि मेले में हर वर्ग भागीदारी को सुनिश्चित करना सराहनीय पहल है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की महिलाओं को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाने के लिए राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में स्वरोजगार के प्रेरित किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में वन विभाग द्वारा संचालित जायका, आईडीपी और केएफडब्ल्यू परियोजना भी राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की तरह महिला सशक्तिकरण की दिशा में कार्य किया जा रहा है।

जायका परियोजना से उपलब्ध होंगे स्वरोजगार के अवसर

राकेश पठानिया ने कहा कि जायका परियोजना के माध्यम से प्रदेश में स्वयं सहायता समूहों से जुड़े लोगों के लिए स्वरोजगार के नए अवसर प्राप्त होंगे।

उन्होंने कहा कि भारतवर्ष के 31 राज्यों में जायका परियोजना क्रियान्वित हो रही है और हिमाचल के लिए गौरव की बात है कि जायका के संचालन में हिमाचल प्रदेश दूसरे पायदान पर है तथा शीघ्र ही सभी की सहभागिता से इसे पहले स्थान पर लाया जाएगा।

पठानिया ने कहा कि जायका परियोजना में जिला कांगड़ा को भी शामिल करवाया गया है और इसमे 150 करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे।

100 महिला समूहों के गठन की अपील

राकेश पठानिया ने उपस्थित महिलाओं से सुलाह निर्वाचन क्षेत्र से 100 महिला समूहों (women’s groups) के गठन की अपील की। उन्होंने कहा कि ऐसे समूहों को 1 या 2 गाय उपलब्ध करवाने के लिए सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी।

गाय का दूध 40 रुपए किलो तथा घी को खरीद लिया जाएगा जिससे महिलाओं को अच्छी आय हो सके। उन्होंने कहा कि वर्तमान में जैविक खाद बहुत डिमांड है।

उन्होंने महिला समूहों को इस दिशा में भी आगे आने की अपील की। उन्होंने आश्वस्त किया कि सारी खाद वन विभाग खरीद लेगा।

सुलाह की 1000 महिलाओं को करेंगे प्रशिक्षित

राकेश पठानिया ने कहा कि कांगड़ा में जायका परियोजना आरंभ होने के बाद पहला कैम्प सुलाह विधानसभा क्षेत्र में ही लगाया जा रहा है जिसमें दिल्ली से प्रोफेशनल ट्रेनर प्रशिक्षण के लिए उपलब्ध होंगे।

उन्होंने कहा कि सुलाह हलके की 1,000 महिलाओं को अपने पैरों पर खड़ा करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सुलाह में 20 से 25 ग्रुप ऐसे तैयार किए जाएं जो इस कार्य को मिशन के रूप में आरम्भ करें।

उन्होंने कहा कि जायका के माध्यम से 5 लाख तक ऋण और 1 लाख तक अनुदान, सोलर लाइट इत्यादि का प्रावधान रखा गया है।

बस स्टैंड, एचपीएमसी स्टालों पर उपलब्ध होंगे स्वयं सहायता समूहों के उत्पाद

राकेश पठानिया ने कहा कि सरस मेले के आयोजन का मकसद हर घर की खुशहाली और आत्मनिर्भरता लाना है।

उन्होंने कहा कि अब हर महीने सरस मेलों का आयोजन किया जाएगा ताकि स्वयं सहायता समूह को अपना तैयार समान विक्रय करने के लिए स्थान मिल सके।

उन्होंने कहा कि तैयार सामान की मार्केटिंग की व्यवस्था के लिए हर बस स्टैंड, एचपीएमसी स्टाल पर यह उत्पाद उपलब्ध होंगे।

सुलाह में प्रदेश में सबसे अधिक विकास

राकेश पठानिया ने कहा कि कोविड के चलते जब सारी दुनिया थम गई थी, उस समय प्रदेश में भी विकास कार्य प्रभावित हुए हैं। कोविड से राहत के बाद प्रदेश में अब विकास को तीव्र गति प्रदान की गई है।

उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार (Assembly Speaker Vipin Singh Parmar) जिला कांगड़ा के नेता हैं और उनके नेतृत्व में सुलाह विधानसभा क्षेत्र में पूरे प्रदेश में सबसे अधिक विकास हुआ है।

सुलाह संस्कृति रही आकर्षण का केंद्र

इस अवसर पर सुलाह संस्कृति का प्रदर्शन सबके आकर्षण का केंद्र रहा। इसमें एक साथ 200 से अधिक महिलाओं ने लगभग 300 मीटर लंबे भारत के झंडे के साथ कांगड़ा का नृत्य प्रस्तुत किया।

वन मंत्री ने महिलाओं के इस प्रयास की सराहना की और कहा कि कांगड़ा की सांस्कृतिक झलक देखनी हो तो सुलाह में ही देखी जा सकती है।

कार्यक्रम में मुख्य परियोजना निदेशक जायका नागेश गुलेरिया, बंदना पठानिया, शर्मिला परमार, जिला भाजपा अध्यक्ष हरिदत्त शर्मा, मंडल अध्यक्ष देशराज शर्मा, महामंत्री सुखदेव मसंद एवं विपिन जमवाल, जिला परिषद सदस्य रजनी देवी, रागिनी रुकवाल, सोनिया बंटा, माध्वी ठाकुर, सुधा राणा, एसडीएम पालमपुर डा. अमित गुलेरिया, एसडीएम धीरा डा. आशीष शर्मा, परियोजना अधिकारी डीआरडीए सोनू गोयल, बीडीओ भवारना संकल्प गौतम, बीडीओ सुलाह सिकंदर कुमार, डीएफओ नितिन पाटिल, अधिशाषी अभियंता मनीष सहगल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, स्वयं सहायता समूहों के सदस्य और गणमान्य लोग उपस्थित रहे। महिलाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने को सरकार वचनबद्ध: राकेश पठानिया

Read More : भाजपा सरकार एक ही कार्य का बार-बार कर रही शिलान्यास: चौहान

Connect With Us : Twitter | Facebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular