Wednesday, October 5, 2022
HomeKangraभारत गुरू-शिष्य परंपरा का संवाहक-परमार

भारत गुरू-शिष्य परंपरा का संवाहक-परमार

भारत गुरू-शिष्य परंपरा का संवाहक-परमार

  • सुलह स्कूल के बच्चों को पुरस्कार किए वितरित
  • शिक्षकों द्वारा 51000 रूपए मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए भेंट किए

इंडिया न्यूज, पालमपुर (Palampur-Himachal Pradesh)

भारत गुरु-शिष्य परंपरा का संवाहक है। हर एक सफल व्यक्ति के पीछे उसके शिक्षक का हाथ होता है। गुरू का हर किसी के जीवन बहुत ही महत्व होता है। यह उद्गार विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार ने सोमवार को राणा मान चन्द मेमोरियल राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुलह में शिक्षक दिवस व वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह में बतौर मुख्यातिथि व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि हमारे देश के पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर सन् 1888 को हुआ था और उन्हीं की याद में हर साल भारत में इस दिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक शिक्षाविद भी थे, जिन्होंने भारत के शिक्षा स्तर को सुधारने के लिए बहुत से कार्य किए।

उन्होंने कहा कि एक शिक्षक ही हमें वो सभी संस्कार देता है, जिससे कि हमें किसी भी जगह पर रूकावट नहीं आती और हर जगह पर बिना किसी स्वार्थ के लिए हमारी मदद के लिए खड़ा रहता है। परमार ने कहा कि सुलाह निर्वाचन क्षेत्र में भी शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास किया गया है। शिक्षण संस्थानों में मूलभूत सुविधाओं के साथ साथ छात्रों को घर के नजदीक गुणात्मक शिक्षा के अतिरिक्त तकनीकी एवं व्यसायिक शिक्षा भी उपलब्ध करवाई जा रही है।

प्रदेश के सरकारी संस्थान छात्रों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध करवा रहे हैं 

उन्होंने कहा कि प्रदेश के सरकारी संस्थान छात्रों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध करवा रहे हैं और सरकार भी उच्च शिक्षण सुविधाएं उपलब्ध करवा रही है। इन संस्थानों में अनुभवी अध्यापक बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिये कड़ी मेहनत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ बच्चों को बैठने के बढ़िया भवन, साइंस ब्लॉक, कंप्यूटर लैब, लाइब्रेरी, मैदान, शौचालय इत्यादि उपलब्ध करवाने के लिये सुलह हलके में शिक्षण संस्थानों के भवनों पर 34 करोड़ 15 लाख रुपये व्यय किये जा रहे हैं।

इससे पहले विद्यालय के प्रधानाचार्य नागेश्वर ठाकुर ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और विद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की तथा बच्चों द्वारा सास्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। इस अवसर पर उत्कृष्ट छात्रों को पुरस्कार भी वितरित किए।
उन्होने स्कूल टीन शेड के लिए 3 लाख, सास्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले बच्चो को 21000 रूपए देने की घोषणा की।

राणा मान चन्द मेमोरियल राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के शिक्षकों द्वारा 51000 रूपए मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए भी भेंट किए।

इस अवसर पर कार्यक्रम में मंडल अध्यक्ष कैप्टन देशराज शर्मा, शर्मिला परमार, प्रींसिपल सुलह नागेश्वर पठानिया , एसएमसी प्रधान विपिन कुमार, वीडीसी चेयरमैन अनीता चैधरी, जिला परिषद सदस्य रजनी देवी, प्रधान ककडै प्रवीण ठाकुर, उप प्रधान ककडै विजय पाधा, वीडीसी सदस्य प्रवीण कुमार, मण्डल उपाध्यक्ष कश्मीर सिंह, विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी, विभिन्न स्कूलों के प्रीसीपल व बड़ी संख्या में युवाओं सहित क्षेत्र के गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular