Saturday, October 1, 2022
HomeKangraकिसानों को आर्थिक तौर पर सशक्त बनाऐंगी दूध उत्पाद बिक्री इकाई -...

किसानों को आर्थिक तौर पर सशक्त बनाऐंगी दूध उत्पाद बिक्री इकाई – कुलपति प्रो0 एच0 के0 चौधरी

किसानों को आर्थिक तौर पर सशक्त बनाऐंगी दूध उत्पाद बिक्री इकाई – कुलपति प्रो0 एच0 के0 चौधरी

कुलपति प्रो0 एच0 के0 चैधरी दूध और दुग्ध उत्पाद बिक्री इकाई का शुभारंभ के दौरान इकाई का निरिक्षण करते हुए।
  • पशु चिकित्सा एवम पशु विज्ञान महाविद्यालय में दूध और दुग्ध उत्पाद बिक्री इकाई का उद्घाटन

इंडिया न्यूज, पालमपुर (Palampur-Himachal Pradesh)

कुलपति प्रो0 एच0 के0 चौधरी दूध और दुग्ध उत्पाद बिक्री इकाई का शुभारंभ के पहले पुजा अर्चना करते हुए।

चौधरी सरवन कुमार हिमाचल प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय (Chaudhary Sarwan Kumar Himachal Pradesh Agricultural University) के डा0 जी0 सी0 नेगी पशु चिकित्सा एवम पशु विज्ञान महाविद्यालय (Dr. G.C. Negi College of Veterinary and Animal Science) में दूध (milk) और दुग्ध उत्पाद बिक्री इकाई (milk product sales unit) का शुभारंभ (inaugration) कुलपति कुलपति प्रो0 एच0 के0 चौधरी (Vice Chancellor Prof. H.K.Chowdhary) ने किया। उन्होंने नए उद्यम के लिए वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए कहा कि ऐसे सभी विभागों में बिक्री आउटलेट (selling outlet) बनाना महत्वपूर्ण है जो कृषि (agriculture) और पशु उत्पादों जैसे बीज (seed), सब्जियां (vegitables), मशरूम (mushroom) का उत्पादन (production) करते हैं।

कुलपति प्रो0 एच0 के0 चैधरी दूध और दुग्ध उत्पाद बिक्री इकाई का शुभारंभ करते हुए।

उत्पादों की विशिष्ट पहचान स्थापित करें और उसे बनाए रखें, ताकि विश्वविद्यालय का नाम और प्रसिद्धि भारत के कोने-कोने तक पहुंचें

उन्होंने वैज्ञानिकों से कहा कि वे अपने उत्पादों की विशिष्ट पहचान (Unique identification of your products) स्थापित करें और उसे बनाए रखें, ताकि विश्वविद्यालय का नाम और प्रसिद्धि भारत के कोने-कोने तक पहुंचे। इससे छात्रों और युवा किसानों में उद्यमिता का भी विकास होगा। उन्होंने यह भी सलाह दी कि उपभोक्ताओं (consumer) से फीडबैक (feedback) मिलने के बाद दुग्ध उत्पादों में सुधार (milk products improvement) करें।

उच्च गुणवत्ता वाला पाश्चुरीकृत दूध, पनीर, दही, बर्फी हिम पालम ब्रांड के तहत गुलाब जामुन, फ्लेवर्ड मिल्क, घी, खोया आदि उपलब्ध होंगे

उन्होने इकाई को गुणवत्तापूर्ण दूध की आपूर्ति के लिए स्थानीय किसानों की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि इकाई किसानों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाएगी क्योंकि वे भविष्य में उद्यमशीलता कौशल सीखेंगे और एफपीओ बनाएंगे। उन्हें यह जानकर खुशी हुई कि उच्च गुणवत्ता वाला पाश्चुरीकृत दूध (pasteurized milk), पनीर (paneer), दही (curd), बर्फी (burfi) हिम पालम ब्रांड (him palm brand) के तहत गुलाब जामुन (gulab jamun), फ्लेवर्ड मिल्क (flavored milk), घी (ghee), खोया (khoya)आदि उपलब्ध होंगे।

डीन डॉ0 मनदीप शर्मा और डॉ0 आर0 के0 असरानी, हेड, पशुधन उत्पाद प्रौद्योगिकी विभाग ने इस नई इकाई के महत्व के बारे में विस्तार से बताया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के संविधिक अधिकारी, वैज्ञानिक व विद्यार्थी मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular