Monday, September 26, 2022
HomeLahaul and Spitiउदयपुर नागरिक अस्पताल के भवन तथा आवासों के निर्माण पर व्यय होंगे...

उदयपुर नागरिक अस्पताल के भवन तथा आवासों के निर्माण पर व्यय होंगे 14.50 करोड़ -डॉ0 रामलाल मार्कण्डा

उदयपुर नागरिक अस्पताल के भवन तथा आवासों के निर्माण पर व्यय होंगे 14.50 करोड़ -डॉ0 रामलाल मार्कण्डा

  • घर द्वार तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करना प्रदेश सरकार की प्राथमिकता
  • उदयपुर में लोगों सुनी समस्याएं, मौके पर किया निपटारा

इंडिया न्यूज, केलंग (लाहौज व स्पीति)(Keylong-Lahul & Spiti)

उदयपुर नागरिक अस्पताल के भवन तथा आवासों के निर्माण पर 14.50 करोड़ रुपये व्यय किए जाएंगेस जिसके लिए 3.5 करोड़ रुपये की राशि जारी कर दी गई है। ये जानकारी तकनीकी शिक्षा एवं जनजातीय विकास मंत्री डॉ0 रामलाल मार्कण्डा ने बुधवार को उदयपुर मंडल के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उदयपुर का दर्जा बढ़ाकर सिविल अस्पताल कर इसका शुभारंभ करने के उपरान्त उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए दी।

उन्होंने कहा कि गैमूर गोम्पा के सौन्दर्यीकरण के लिए 286 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं। उन्होंने उदयपुर महिला मंडल को 21 हजार रुपये देने की घोषणा की।

गौरतलब है कि इस सिविल अस्पताल का उद्घाटन केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा द्वारा किया जाना था, लेकिन भारी बारिश के कारण वे उदयपुर नहीं पहुंच पाए, जिस कारण उनकी अनुपस्थिति में तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ0 रामलाल मार्कण्डा द्वारा किया गया।

वर्तमान प्रदेश सरकार के कार्यकाल में आमजन को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने की दिशा में सफल प्रयास हुए

उन्होने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार के कार्यकाल में आमजन को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने की दिशा में सफल प्रयास हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नागरिकों की स्वास्थ्य सुरक्षा को सुनिश्चित बनाया गया है और प्रदेश के दूरदराज और दुर्गम क्षेत्रों तक स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता को सुनिश्चित बनाया गया है।

स्वास्थ्य सुरक्षा को सुनिश्चित बनाने के लिये महत्वाकांक्षी हिम केयर योजना आरम्भ की

उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा को सुनिश्चित बनाने के लिये महत्वाकांक्षी हिम केयर योजना आरम्भ की है। यह योजना जरूरतमंद लोगों के लिये संजीवनी साबित हो रही है और इसमें प्रदेश के सवा 5 लाख परिवारों का पंजीकरण हुआ है। उन्होंने कहा कि इस योजना में प्रदेश के लगभग अढ़ाई लाख लोगों ने 200 करोड़ से अधिक के स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किये हैं।

उन्होंने कहा कि सहारा योजना के अंतर्गत भी गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों को सहारा योजना में प्रति माह 3 हजार रुपये सहायता उपलब्ध करवाई जा रही है। इस योजना में 16 हजार से अधिक लोगों की सहायता के लिये 56 करोड़ से अधिक राशि व्यय की जा रही है।

प्रदेश सरकार जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध

डॉ0 रामलाल मार्कण्डा ने कहा कि प्रदेश सरकार जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने समाज कल्याण क्षेत्र को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए वृद्धावस्था पेंशन की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष और अब 60 वर्ष कर दिया है।

महिला सशक्तिकरण और उनके कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी

राज्य सरकार ने महिला सशक्तिकरण और उनके कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना, महिला यात्रियों के लिए हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में किराये में 50 प्रतिशत की रियायत प्रदान की है। 125 यूनिट बिजली निःशुल्क तथा गाँव में निःशुल्क पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है।

इस दौरान सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से अधिकृत मन्नत कला मंच नाट्य दल के कलाकारों ने गीत संगीत के माध्यम से सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का व्याख्यान किया।

डॉ0 मार्कण्डा ने सुनी जन समस्याएं

इस दौरान डॉ0 रामलाल मार्कण्डा ने उदयपुर में लोगों की समस्याओं को सुना स अधिकतर का मौके पर ही निपटारा कर दिया तथा शेष समस्याओं के समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।

ये रहे उपस्थित

इस अवसर पर एसडीएम उदयपुर निशांत तोमर, डिप्टी सीएमओ रंजीत वैद्य, टीएसी मेंबर शमशेर सिंह, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग बीसी नेगी, बीडीसी अध्यक्ष टशी सोनम, प्रधान उदयपुर लक्ष्मण ठाकुर, जिला परिषद मोहिंदर सिंह, प्रधान थिरोट शेर सिंह, बीडीसी उपाध्यक्ष राकेश कुमार, बीडीसी रीता ठाकुर, प्रधान गोंदला सूरज सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, विभिन्न महिला, युवक मंडलों के प्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular