Thursday, December 8, 2022
HomeMandiमंडी जिले में 8,58,646 मतदाता करेंगे विधानसभा चुनावों में अपने मताधिकार का...

मंडी जिले में 8,58,646 मतदाता करेंगे विधानसभा चुनावों में अपने मताधिकार का प्रयोग

- Advertisement -

मंडी जिले में 8,58,646 मतदाता करेंगे विधानसभा चुनावों में अपने मताधिकार का प्रयोग

  • 80 प्लस आयु के मतदाताओं को घर से मतदान करने की सुविधा

  • मंडी जिले में 1190 पोलिंग बूथ
  • मजबूत सहभागिता एवं सबके लिए ‘सुलभ चुनाव’

इंडिया न्यूज, मंडी (Mandi-Himachal Pradesh)

जिले की 10 विधानसभा सीटों के लिए 8 लाख 58 हजार 646 मतदाता विधानसभा चुनावों में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें 4 लाख 24 हजार 566 महिला मतदाता और 4 लाख 22 हजार 215 पुरुष वोटर हैं। सर्विस वोटर की संख्या 11864 है। इसके अलावा तीसरे जेंडर का 1 मतदाता है। ये जानकारी उपायुक् एंव जिला निर्वाचन अधिकारी अरिंदम चैधरी ने शनिवार को उपायुक्त कार्यालय में पत्रकार वार्ता के दौरान दी। इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी अश्विनी कुमार और तहसीलदार निर्वाचन विजय शर्मा भी उनके साथ मौजूद रहे।

उपायुक्त ने पत्रकारवार्ता में विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम और प्रक्रिया के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि चुनावों में सबकी भागीदारी तय बनाने को प्रशासन की ओर से विशेष प्रबंध रहेंगे। विशेषकर बुजुर्गों और दिव्यांगजनों के लिए खास व्यवस्था की जाएगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मंडी जिले में करीब 10 हजार 504 दिव्यांग मतदाता हैं। इनमें 6702 पुरुष और 3802 महिला मतदाता हैं। वहीं, जिले में 80 साल से अधिक उम्र वाले 19 हजार 89 मतदाता हैं, जिनमें 162 मतदाता सौ साल से अधिक आयु के हैं।

80 प्लस आयु के मतदाताओं को घर से मतदान करने की सुविधा

80 प्लस आयु के मतदाताओं को घर से मतदान करने की सुविधा का विकल्प प्रदान किया जा रहा है। इसके लिए प्रशासन की ओर से विशेष दल बुजुर्ग मतदाताओं के घर जाकर मतदान के विकल्प को लेकर फॉर्म भरवाएंगे। घर से मतदान का विकल्प चुनने वाले मतदाताओं के मतदान के लिए विशेष दल निर्धारित शेड्यूल के अनुसार मतदान की प्रक्रिया पूर्ण करवाएंगे।

मजबूत सहभागिता एवं सबके लिए ‘सुलभ चुनाव’

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इसके अलावा दिव्यांग मतदाताओं को घर से मतदान केंद्र तक लाने और वापिस ले जाने की सुविधा भी प्रदान की जाएगी। मतदान केंद्रों पर उनकी सुविधा के लिए व्हीलचेयर, रैंप और अन्य सभी जरूरी इंतजाम रहेंगे। चुनावी प्रक्रिया में दिव्यांगजनों की मजबूत सहभागिता एवं सबके लिए ‘सुलभ चुनाव’ बनाने पर विशेष जोर है।

नामांकन 17 अक्तूबर से

अरिंदम चैधरी ने बताया कि 17 अक्तूबर (सोमवार) से विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया आरंभ होगी। 22, 23 और 24 अक्तूबर को अवकाश के चलते नामांकन नहीं होगा। नामांकन की अंतिम तिथि 25 अक्तूबर (मंगलवार) है।
उम्मीदवार अपने नामांकन संबंधित निर्वाचन अधिकारी एसडीएम (बालीचैकी और कोटली को छोड़ के) के पास जमा कराएंगे। 27 अक्तूबर को नामांकनों की छंटनी की जाएगी, नामांकन वािपस लेने की अंतिम तारीख 29 अक्तूबर है। 12 नवंबर को मतदान होगा और मतों की गिनती 8 दिसंबर को की जाएगी।

मंडी जिले में 1190 पोलिंग बूथ

अरिंदम चैधरी ने बताया कि मंडी जिले में 1190 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें शहरी क्षेत्र में 77 और ग्रामीण क्षेत्र में 1113 मतदान केंद्र हैं। 53 वल्नरेबल, 23 क्रिटिकल मतदान केंद्र हैं। उन्होंने बताया कि जिले में 21 मॉडल मतदान केंद्र होंगे। जबकि 20 पोलिंग बूथ ऐसे होंगे जिन्हें महिला चुनाव कर्मी संचालित करेंगी। वहीं, मंडी व सुंदरनगर विधानसभा क्षेत्र में दो पोलिंग बूथों को दिव्यांग कर्मी संचालित करेंगे। जिले में 50 प्रतिशत मतदान केंद्रों की वेब कास्टिंग की जाएगी।

18-19 साल आयु वार्ग में 33864 नए मतदाता पंजीकृत

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मंडी जिला 18 से 19 साल के नए मतदाताओं के पंजीकरण में प्रतिशतता के मामले में अव्वल रहा है। जिले में विशेष मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम में 18-19 साल आयु वर्ग में 33 हजार 864 नए मतदाताओं का पंजीकरण किया गया है।

सी-विजिल ऐप चुनाव से जुड़ी शिकायतों का त्वरित निपटारा

उन्होंने बताया कि चुनाव प्रक्रिया में पारदर्शिता और आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन और चुनावी खर्चे से जुड़ी शिकायतों के त्वरित निपटारे के लिए ‘सी-विजिल’ ऐप का प्रयोग भी किया जा सकता है। सभी लोग एंड्रॉयड फोन पर इस एप को आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। इसके जरिये आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन और रुपयों के लेनदेन की शिकायत मौके से साक्ष्य के साथ भेजी जा सकती है। सी-विजिल एप में वीडियो-फोटो के साथ दर्ज शिकायत का अधिकतम 100 मिनट के भीतर निपटारा तय बनाया जाता है। उन्होंने चुनाव से जुड़ी मंजूरियों के लिए सुविधा एप के इस्तेमाल को लेकर भी जानकारी दी।

चुनावी जागरूकता के लिए उत्सव कार्यक्रम

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिले में स्वीप अभियान के तहत मतदाता जागरूकता के लिए उत्सव कार्यक्रम के जरिए विविध जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। इससे बड़ी संख्या में नए मतदाताओं के पंजीकरण में सफलता मिली है। अब इसके जरिए मताधिकार के सही प्रयोग को लेकर मतदाताओं की जागरूकता पर बल रहेगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular