Saturday, October 1, 2022
Homeशिमलाकिसानों को प्राकृतिक खेती के लिए कर रहे प्रोत्साहित: कंवर

किसानों को प्राकृतिक खेती के लिए कर रहे प्रोत्साहित: कंवर

किसानों को प्राकृतिक खेती के लिए कर रहे प्रोत्साहित: कंवर

  • कहा- किसानों, बागवानों और फूल उत्पादकों का माल विभिन्न मंडियों में भेजने व विपणन व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण को 250 करोड़ किए जा रहे व्यय

इंडिया न्यूज, शिमला।

ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, पशुपालन और मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर (Rural Development, Panchayati Raj, Agriculture, Animal Husbandry and Fisheries Minister Virendra Kanwar) ने कहा है कि प्रदेश में किसानों, बागवानों और फूल उत्पादकों का माल विभिन्न मंडियों में भेजने व विपणन व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के लिए लगभग 250 करोड़ रुपए व्यय किए जा रहे हैं।

वे गुरुवार को राजधानी शिमला में ढली सब्जी मंडी के समीप निर्मित किसान भवन को सुविधा सम्पन्न बनाने के बाद किसानों व बागवानों को उपयोग के लिए समर्पित करने के मौके पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे।

कंवर ने कहा कि प्रदेश में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए अनेक योजनाएं चलाकर किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

इसके तहत 1 लाख 70 हजार किसानों ने प्रदेश में प्राकृतिक खेती को अपनाया है। उन्होंने बताया कि प्राकृतिक खेती के तहत किसान अपना माल उपभोक्ता तक पहुंचा सके, इसके लिए एपीएमसी के तहत प्रदेश में 10 मंडियों की व्यवस्था की जाएगी।

उन्होंने कहा कि फूल उत्पादकों को माल बेचने के लिए परवाणु में मंडी आरम्भ की है जिसमें मई माह से विपणन व विनिमय कार्य आरम्भ होगा।

उन्होंने कहा कि बजट में संभावित अन्य मंडी ऊना में खोली जाएगी ताकि फूल उत्पादक किसान को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।

किसान व बागवान ई-नाम व्यवस्था अपनाएं

कृषि मंत्री ने कहा कि ई-नाम (राष्ट्रीय कृषि विपणन) व्यवस्था पूरे प्रदेश में लागू हो, किसान व बागवान इसे अपनाएं, इसके लिए सम्मिलित प्रयास आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि इस संबंध में अभियान चलाकर किसानों व बागवानों को जागरूक किया जाएगा ताकि उन्हें उचित विपणन बाजार मिल सके।

उन्होंने आज ई-नाम योजना के तहत उत्कृष्ट कार्य करने के लिए फल मंडी सोलन को प्राप्त प्राइम मिनिस्टर अवार्ड फार एक्सीलेंस इन पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन 2019 प्राप्त करने के लिए बधाई दी तथा फल मंडी सोलन के पदाधिकारियों व अन्य कर्मचारियों को सम्मानित किया।

इसके तहत अध्यक्ष एपीएमसी सोलन संजीव कश्यप, सचिव एपीएमसी सोलन रविंद्र कुमार शर्मा, निदेशक कृषि डा. नरेंद्र धीमान, प्रबंध निदेशक हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड नरेश ठाकुर, एनालिस्ट सोलन विकास कश्यप, एनालिस्ट ईनाम मंडी सोलन लेब एसायर भूपेंद्र ठाकुर, डाटा एंट्री आपरेटर कैथरीन, रूपा सूद दारूनी, व्यापारी पदम सिंह पुंडिर, हेम चंद शर्मा, किसान सतपाल व हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के मार्केटिंग अधिकारी अनिल शर्मा, परियोजना प्रबंधक दिशा गुप्ता, राज्य समन्वयक अंकुश सोलंकी तथा प्रधान आढ़ती एसोसिएशन ढली पराला मंडी हरीश ठाकुर शामिल हैं।

विपणन संदेश के दूसरे संस्करण का विमोचन

कृषि मंत्री ने आज हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड द्वारा विपणन से संबंधित गतिविधियों के प्रकाशन के लिए विपणन संदेश के दूसरे संस्करण का विमोचन किया।

कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव भंडारी ने अपने संबोधन में कहा कि पदभार संभालते ही उन्होंने प्रदेश की विभिन्न मंडियों की खराब हालत को सुधारने के लिए 48 करोड़ रुपए व्यय किए।

उन्होंने बताया कि अभी तक 61 मंडियों को स्तरोन्नत किया गया है जिनमें 21 नई मंडियां निर्मित की गई हैं। उन्होंने बताया कि विश्व बैंक के सहयोग से परवाणु में बड़ी मंडियों का निर्माण कार्य किया जाएगा, इसके अतिरिक्त पराला में 60 करोड़ रुपए से सीए स्टोर बनाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में अनाज के लिए 11 अनाज मंडियों की शुरूआत भी की गई है जिससे अनाज उत्पादकों को सुविधा होगी।

हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के कार्य बताए

एपीएमसी शिमला के अध्यक्ष नरेश शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा शिमला में बागवानों, किसानों के लिए विपणन व अन्य कार्यों का उल्लेख किया।

हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के प्रबंध निदेशक नरेश ठाकुर ने भी अपने विचार रखे तथा बोर्ड द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में किए जा रहे कार्यों का उल्लेख किया।

इस अवसर पर उप-महापौर नगर निगम शिमला शैलेंद्र चौहान, गुड़िया सक्षम बोर्ड की उपाध्यक्ष रूपा शर्मा, पार्षद कमलेश मेहता, रेनु, राजेंद्र चौहान, सभी जिलों के एपीएमसी अध्यक्ष एवं सचिव, मंडलाध्यक्ष कुसुम्पटी जितेंद्र भोटका, इस क्षेत्र से प्रत्याशी रहे विजय ज्योति सैन व बड़ी संख्या में किसान, बागवान उपस्थित थे। किसानों को प्राकृतिक खेती के लिए कर रहे प्रोत्साहित: कंवर

Read More : कांग्रेस में सिर्फ वंशवाद की राजनीति: जम्वाल

Read More : स्वदेशी विज्ञान का गौरव पुनर्स्थापित हो: राज्यपाल आर्लेकर

Read More : पुलिस विभाग में नए भर्ती प्रशिक्षुओं का प्रशिक्षण 4 जुलाई से

Read More : वनों की आग से निकले धुएं से सांस, हृदय और प्रतिरक्षा संबंधी बीमारियां बढ़ीं

Connect With Us : Twitter | Facebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular