Saturday, November 26, 2022
HomeUna27 Thousand Women Self Help Groups Working in Himachal हिमाचल में 27...

27 Thousand Women Self Help Groups Working in Himachal हिमाचल में 27 हजार महिला स्वयं सहायता समूह कार्यशील

- Advertisement -

27 Thousand Women Self Help Groups Working in Himachal हिमाचल में 27 हजार महिला स्वयं सहायता समूह कार्यशील

  • वीरेंद्र कंवर ने मुबारिकपुर में वाओ मार्ट का किया शुभारंभ

इंडिया न्यूज, ऊना :

27 Thousand Women Self Help Groups Working in Himachal : ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा है कि महिलाओं को सशक्त एवं स्वाबलंबी बनाना प्रदेश सरकार का लक्ष्य है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में 27 हजार महिला स्वयं सहायता समूह कार्य कर रहे हैं जो विभिन्न प्रकार के उत्पाद बनाने से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि जिला ऊना में स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों को सोमभद्रा ब्रांड का नाम दिया गया है।

 

वे बुधवार को मुबारिकपुर में 40 लाख रुपए से निर्मित वाओ मार्ट का शुभारंभ करने के मौके पर बोल रहे थे। वीरेंद्र कंवर ने कहा कि यह वाओ मार्ट ग्रामीण विकास विभाग ने नाबार्ड के साथ मिलकर तैयार किया है।

उन्होंने कहा कि वाओ मार्ट एक उपयुक्त स्थान पर खोला गया है जहां स्वयं सहायता समूहों के तैयार किए उत्पादों की बिक्री अधिक होगी क्योंकि इस रास्ते से हजारों श्रद्धालु मां चिंतपूर्णी के दर्शनार्थ जाते हैं।

इससे स्वयं सहायता समूहों के तैयार उत्पादों को बेचने में काफी आसानी रहेगी और उन्हें आर्थिक लाभ होगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं के उत्पादों को बेचने के लिए राज्य में हिमईरा के माध्यम से 100 से अधिक दुकानें भी खोली गई हैं।

वीरेंद्र कंवर ने कहा कि जिला व राज्य स्तर पर स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों को सेल करने के लिए साप्ताहिक मेलों का आयोजन भी किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की आर्थिकी सुदृढ़ करने में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं का काफी बड़ा योगदान रहेगा। कंवर ने कहा कि बैंबू इंडिया के सहयोग से जिला ऊना के बसाल में एक बड़ा प्लांट लगाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण परिवेश में महिलाओं की भूमिका महत्वपूर्ण रहती है। उन्होंने कहा कि अब विभिन्न स्वयं सहायता समूहों के तैयार किए गए उत्पाद अमेजन वेबसाइट पर दुनिया भर के लोग क्रय करेंगे।

इस मौके पर वाओ मार्ट के लिए विधायक राजेश ठाकुर ने ऐच्छिक निधि से कौशल विकास केंद्र में पतल बनाने वाली मशीन लगाने के लिए 75 हजार रुपए देने की घोषणा भी की।

इस अवसर पर गगरेट के विधायक राजेश ठाकुर, चिंतपूर्णी विधायक बलवीर चौधरी, डीसी राघव शर्मा, एडीसी डा. अमित कुमार शर्मा, एसडीएम अंब मनेष यादव सहित अन्य विभागों के अधिकारी व विभिन्न स्वयं सहायता समूह की महिलाएं उपस्थित रहीं। 27 Thousand Women Self Help Groups Working in Himachal

Read More : World Bank Team Visited Himachal Raj Bhavan विश्व बैंक की टीम ने किया हिमाचल राजभवन का दौरा

Read More : Himachal Pradesh Slum Developers Property Rights Bill 2022 Passed in the Assembly हिमाचल प्रदेश स्लम डिवेलर्स प्रापर्टी राइट्स बिल 2022 विधानसभा में पारित

Connect With Us : Twitter | Facebook

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular