Sunday, November 27, 2022
HomeUncategorizedविधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा, कांग्रेस, आप चुनाव प्रचार में जुटी, बेरोजगार...

विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा, कांग्रेस, आप चुनाव प्रचार में जुटी, बेरोजगार वोटरों पर हैं इनकी नजर

- Advertisement -

इंडिया न्यूज, शिमला, (About Assembly Elections) : विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा, कांग्रेस और आप प्रचार में जुट गई है। सभी राजनीतिक दलों के नेता लोगों के घर-घर जाकर जाकर वोट मांगने शुरू कर दिए हैं। विधानसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी ने अपने चार प्रत्याशियों के नाम तय कर दिए हैं, जबकि भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशियों के नाम सामने नहीं आये हैं।

पार्टी नेता ओल्ड पेंशन स्कीम, बेरोजगारों को पेंशन, नि:शुल्क स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे मुद्दों पर बेरोजगार युवाओं और कर्मचारियों का ध्यान अपनी पार्टियों की ओर खिंचने में लगे हुए हैं। इस चुनाव में आम आदमी पार्टी ने चुनाव प्रचार के लिए एटीएम कार्ड की तर्ज पर गारंटी कार्ड बनाया है। जिसमें बेरोजगारों को रोजगार या फिर 3,000 रुपये बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही है। इसके अलावा छह लाख सरकारी नौकरियां देने का भी वादा किया गया है।

कार्ड के पीछे लिखी गई है युवाओं की पंजीकरण संख्या

कार्ड के पीछे युवाओं की पंजीकरण संख्या लिखी जा रही है। इसी तरह कांग्रेस पार्टी ने भी हर घर लक्ष्मी, नारी निधि सम्मान को लेकर गारंटी कार्ड बनाया है। इसमें महिलाओं को 1,500 रुपये देने की बात कही जा रही है। इसके लिए पार्टी ने योजना से महिलाओं को जोड़ने के लिए सहायता नंबर भी जारी किया है।

वहीं भाजपा की ओर से वोटरों को रिझाने के लिए स्वर्ण दृष्टि पत्र तैयार किया गया है। जिसमें महिलाओं, युवाओं और कर्मचारियों को लेकर की जाने वाली घोषणाओं को शामिल किया गया है। हिमाचल प्रदेश में तीनों पार्टियां चुनाव प्रचार में अपने स्तर पर पूरे दमखम से चुनाव प्रचार में जुट गई है। चुनाव प्रचार के लिए केंद्रीय नेताओं का हिमाचल में आना शुरू हो गया है। विधानसभा क्षेत्रों से लेकर पंचायत स्तर पर लोगों के बीच पार्टियां गुणगान कर रही हैं।

नोडल अधिकारी 500 कामगारों वाले संस्थानों में बना रहे वोट

मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि इस बार चुनाव सुधारों के तहत अब आयोग असंगठित क्षेत्र के कामगारों को मतदान के लिए अवकाश दिलाने के लिए पूरी तरह प्रयासरत है। इसके तहत हिमाचल में पांच सौ कामगारों वाले संस्थानों में एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति कर उनके वोट बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। ताकि ये लोग अपना मतदान कर सकें।

शहरी क्षेत्रों के मतदाता है उदासीन

मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि ग्रामीण अंचलों में मतदान को लेकर लोगों में जागरूकता है। लेकिन शहरी क्षेत्रों के मतदाता उदासीन है, जबकि भारत आज बड़ी युवा आबादी वाला देश है। इसलिए वह युवाओं से आह्वान करते हैं कि अपने मन अनुसार सरकार के गठन के लिए वह अपने मतदान का प्रयोग जरूर करें। ताकि उनके मन के अनुसार सरकार बन सकें।

ALSO READ : राहुल गांधी के हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार करने पर संशय बरकरार

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular